logo
Breaking

बोर्ड परीक्षाओं के कारण यहां बच्चों के लिए बैन हुआ मोबाइल फोन, पकड़े जाने पर होगी...

राजधानी के सभी सरकारी स्कूलों में मोबाइल प्रतिबंधित कर दिया गया है। इस बाबत जिले के सभी विकासखंड अधिकारियों और शाला के प्राचार्य को खत जारी किया गया है। जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा जारी आदेश में सभी स्कूलों में छात्रों द्वारा मोबाइल का इस्तेमाल प्रतिबंधित करने और नियमों का कड़ाई से पालन करने कहा गया है।

बोर्ड परीक्षाओं के कारण यहां बच्चों के लिए बैन हुआ मोबाइल फोन, पकड़े जाने पर होगी...
राजधानी के सभी सरकारी स्कूलों में मोबाइल प्रतिबंधित कर दिया गया है। इस बाबत जिले के सभी विकासखंड अधिकारियों और शाला के प्राचार्य को खत जारी किया गया है। जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा जारी आदेश में सभी स्कूलों में छात्रों द्वारा मोबाइल का इस्तेमाल प्रतिबंधित करने और नियमों का कड़ाई से पालन करने कहा गया है।
जिला शिक्षा कार्यालय का मानना है कि शाला परिसर में मोबाइल के प्रयोग से अध्ययन कार्य व अन्य शैक्षणिक कार्यों में बाधा उत्पन्न हो रही है। फोन के दुरुपयोग की घटनाएं भी सामने आ रही हैं। यह हानिपद्र है। वार्षिक परीक्षाओं में कुछ दिन ही शेष हैं। ऐसे में छात्रों का ध्यान पूरी तरह से पढ़ाई पर केंद्रित करने और उन्हें परीक्षा की तैयारी में मदद करने प्रयास किया जा रहा है।

बताई जाएगी हानि

स्कूलों में छात्रों को समझाइश देकर मोबाइल प्रतिबंधित करने कहा गया है। छात्रों को मोबाइल के दुष्प्रभाव के बारे में बताया जाएगा। आदेश के मुताबिक शाला परिसर में यदि कोई छात्र फोन का इस्तेमाल करते हुए पाया जाता है, तो उसकी काउंसिलिंग की जाएगी।
इसके साथ ही छात्र के पालक को भी शाला में बुलाकर छात्र की गतिविधियों से अवगत कराया जाएगा और उन्हें भी बच्चों को मोबाइल से दूर रखने के तरीके बताए जांएगे। इसके अतिरिक्त स्कूलों को समय-समय पर छात्रों और पालकों की युक्तिमुक्त काउंसिलिंग कराने कहा गया है।

निरीक्षण में मिली गड़बड़ियां

जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा विभिन्न स्कूलों के निरीक्षण के दौरान कई तरह की गड़बड़ियां मिलने के कारण यह फैसला लिया गया है। निरीक्षण के दौरान कई छात्र स्कूल कैंपस में मोबाइल का इस्तेमाल करते मिले। मोबाइल गेम खेलने के एडिक्ट हो चुके छात्र क्लासरूम में भी पढ़ाई के वक्त फोन खेलने में व्यस्त रहते हैं।

छात्रों की इस तरह की शिकायतें स्कूलों में आम हो गई हैं। इसका सीधा असर छात्रों की पढ़ाई पर पड़ रहा है। इन चीजों पर विराम लगाने और चीजों को पूर्व की तरह व्यवस्थित करने यह फैसला लिया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा ने कहा है कि छात्रों द्वारा मोबाइल के प्रयोग से शालेय गतिविधियां प्रभावित हो रही हैं। फोन प्रतिबंधित करने का फैसला छात्रहित में लिया गया है, ताकि वे अपना पूरा ध्यान केवल पढ़ाई पर केंद्रित कर सकें।

Share it
Top