logo
Breaking

राहुल गांधी के साथ मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बैठक खत्म, 10 नाम किए गए फाइनल

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास पर जारी बैठक खत्म हो गयी है।

राहुल गांधी के साथ मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बैठक खत्म, 10 नाम किए गए फाइनल

आखिर दो दिन के इंतजार के बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की मुलाकात हो गई। मुलाकात में मंत्रिमंडल का स्वरूप करीब-करीब तय हो गया। प्रदेश प्रभारी ने ऐलान किया कि 10 मंत्रियों के नाम तय हो गए हैं। साथ ही विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के नाम भी फाइनल कर लिए गए हैं। शपथ ग्रहण का समय राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से बात करके तय किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि 25 दिसंबर को मध्यप्रदेश में मंत्री शपथ लेंगे, वहां राज्यपाल आनंदीबेन पटेल शपथ दिलाएंगी। आनंदीबेन छत्तीसगढ़ की भी प्रभारी राज्यपाल हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि सबकुछ ठीक रहा तो 24 दिसंबर को छत्तीसगढ़ के मंत्रियों की शपथ कराई जा सकती है। बैठक खत्म होने के बाद छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा बैठक में सभी विधायकों को लेकर चर्चा की गई। जातिगत, सामाजिक समीकरण और वरिष्ठता के आधार पर 10 मंत्रियों के नाम तय कर लिए गए हैं। हालांकि उन्होंने नामों को लेकर कोई खुलासा नहीं किया। साथ ही उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के नाम पर सहमति होने की जानकारी दी।

24 दिसंबर को शपथ संभव

श्री पुनिया ने कहा कि राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद शपथ ग्रहण का वक्त तय किया जाएगा। माना जा रहा है कि शपथ ग्रहण 24 दिसंबर को संभव हो सकता है। 23 दिसंबर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल निजी कार्यक्रम में व्यस्त होंगे। वहीं राज्यपाल आनंदीबेन 25 दिसंबर को दोपहर बाद मध्यप्रदेश में शपथ दिलाएंगी। वहीं वे 25 दिसंबर के बाद 2 जनवरी तक अवकाश पर रहेंगी। ऐसे में माना जा रहा है कि 24 दिसंबर को शपथ ग्रहण हो सकता है।

वरिष्ठों को ही मौका

राहुल गांधी के साथ बैठक में भूपेश बघेल के अलावा वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, केबिनेट मंत्री टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू भी मौजूद थे। सूत्रों के अनुसार पहली बार जीतकर आए 35 विधायकों को लेकर लंबी चर्चा हुई। कुछ विधायक पूर्व मंत्रियों और दिग्गजों को हराकर आए हैं। उनमें से अधिकतर युवा हैं। बघेल केबिनेट में कुछ युवाओं को शामिल करने को लेकर चर्चा की गई लेकिन वरिष्ठ विधायकों की लंबी फेहरिस्त की वजह से उन विचार नहीं किया गया। इतना ही नहीं, 14 विधायक जो दूसरी बार जीतकर आए हैं उनको लेकर भी राहुल गांधी ने पूरी रिपोर्ट ली। श्री बघेल वरिष्ठ विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह देना चाहते हैं। वरिष्ठ नेता टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू भी सहमत थे कि 15 साल बाद कांग्रेस सत्ता में आई है, ऐसे में लंबे समय से संघर्ष कर रहे वरिष्ठ नेताओं को मंत्रिमंडल में जगह मिलनी चाहिए।

नाम अभी भी राहुल के पास

विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी से लगभग घंटे भर की बातचीत के बाद 10 मंत्रिपद किन नेताओं को दिये जाएं इस पर अंतिम लिस्ट अंतत: कांग्रेस अध्यक्ष के ऊपर छोड़कर मुख्यमंत्री और दोनों वरिष्ठ मंत्री रायपुर के लिए रवाना हो गए। सोमवार को राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बातचीत कर शपथ ग्रहण समारोह की तारीख मुकर्रर करेंगे। उसके बाद प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया को राहुल गांधी अपनी ओर से मंत्रियों के नाम का बंद लिफाफा पकड़ा देंगे। पुनिया औपचारिक रूप से मुख्यमंत्री को लिफाफा सौंपेंगे तभी पता संबंधित नेताओं को फोन कर जानकारी शपथ की तैयारी के लिए भूपेश बघेल की ओर से फोन किया जाएगा।

पुनिया 25 को आएंगे

हालांकि तय कार्यक्रम के अनुसार पुनिया 25 को रायपुर पहुंचेंगे। हरिभूमि से बातचीत में उन्होंने कहा, मंत्रिपरिषद के गठन में कहीं कोई परेशानी नहीं। मुख्यमंत्री और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों के साथ कांग्रेस अध्यक्ष ने बातचीत कर लगभग लिस्ट फाइनल कर ली है। अब मीडिया को नाम शपथ ग्रहण समारोह के समय ही पता चल सकेगा।

भूपेश पहुंचे नेशनल हेराल्ड

इससे पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार सुबह नेशनल हेराल्ड के दफ्तर में पहुंचे। कानूनी पेंचिदगियों से इतर उन्होंने वहां मौजूद संपादकों और संपादकीय सहयोगियों से मुलाकात कर आश्वस्त किया कि छग सरकार पूरे दमखम के साथ इस लड़ाई में नेशनल हेराल्ड के साथ है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने नेशनल हेराल्ड को आईटीओ स्थित इमारत को खाली करने का आदेश दिया है। कानून के साथ ये मामला अब राजनीतिक रंग पकड़ने लगा है।

Share it
Top