logo
Breaking

भगवान शिव जी का जलाभिषेक करने उमड़ा जन सैलाब, शाम को निकलेगी शिवजी की बारात

देश भर में आज महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। सुबह से ही शिवालयों में जगह जगह भोलेनाथ का जलाभिषेक करने के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है।

भगवान शिव जी का जलाभिषेक करने उमड़ा जन सैलाब, शाम को निकलेगी शिवजी की बारात

अंकिता शर्मा, रायपुर। देश भर में आज महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। सुबह से ही शिवालयों में जगह जगह भोलेनाथ का जलाभिषेक करने के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है।

इस अवसर पर भगवान शिव का भी विशेष श्रृंगार किया गया है। राजधानी के प्राचीन महादेवघाट में हटकेश्वर और बुढ़ापारा में बुढेश्वर महादेव मंदिर में सुबह 5 बजे से श्रद्धालुओं की लंबी कतार लगी हुई है।

भोलेनाथ का सहस्त्रधारा अभिषेक और रूद्राभिषेक करने श्रद्धालु पहुचेंगे। भोलेनाथ बाबा के सबसे प्रिय भांग से श्रृंगार कर महाआरती होगी। महादेवघाट पर खारून नदी से लेकर हटकेश्वर मंदिर तक जल पहुंचाने के लिए वालेंटियर्स की व्यवस्था की गई है। मंदिर के पुजारी की मानें तो धार्मिक महत्व के इस स्थान पर 30 हजार से अधिक श्रद्धालु पूजन में शामिल होंगे।

बता दें प्रदेश सरकार ने महादेवघाट को धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया है। यहां हर साल शिवरात्रि पर्व पर आस्था का मेला लगता है। मंदिर में पूजन सामग्री से लेकर खान-पान की दुकानें सज जाती हैं।

निकली शाही सवारी
वहीं राजिम त्रिवेणी संगम में श्रद्धालुओं का जनसैलाब भी उमड़ा हुआ है। त्रिवेणी में स्नान करने और भगवान कुलेश्वरनाथ मन्दिर दर्शन के लिए श्रद्धालु पहुंचे हैं। इस दौरान राजिम माघी पुन्नी मेला में पहुंचे श्रद्धालुओं शाही सवारी भी निकाली और त्रिवेणी पहुंचकर शाही स्नान किया।

निकाली जाएगी शिव की बारात
वहीं राजधानी के ऐतिहासिक बूढ़ातालाब के किनारे बुढ़ेश्वर महादेव मंदिर है। मंदिर के पुजारी पं महेश पांडे बताते हैं कि मान्यता है कि आदिवासी गोंड राजा ब्रम्हदेव ने बुढ़ेश्वर महादेव शिवलिंग की स्थापना की थी। शिवरात्रि पर लोग चार से पांच किलोमीटर पैदल चलकर मंदिर में जलाभिषेक, दुग्धाभिषेक और रूद्राभिषेक करने पहुंचते हैं। इस मौके पर मंदिर को अत्भूत ढ़ंग से सजाया गया है।
Share it
Top