Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार : बेमेतरा में प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना का शुभारम्भ, 25 श्रमिकों को मिला मानधन कार्ड

बेमेतरा जिला पंचायत के सभा कक्ष में आज केन्द्र सरकार की श्रम विभाग संबंधित महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना का शुभारम्भ हुआ। मुख्य अतिथियों द्वारा श्रम विभाग में पंजीकृत 25 श्रमिकों को प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन कार्ड का वितरण किया गया।

छत्तीसगढ़ समाचार : बेमेतरा में प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना का शुभारम्भ, 25 श्रमिकों को मिला मानधन कार्ड

बेमेतरा. बेमेतरा जिला पंचायत के सभा कक्ष में आज केन्द्र सरकार की श्रम विभाग संबंधित महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना का शुभारम्भ हुआ। मुख्य अतिथियों द्वारा श्रम विभाग में पंजीकृत 25 श्रमिकों को प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन कार्ड का वितरण किया गया। कार्यक्रम में मुख्यअतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष कविता साहू ने पी.एम.एस.वॉय एम. असंगठित कामगारों के लिए पेंशन योजना के बारे में संक्षिप्त में बताई एवं नामांकन प्रक्रिया, पेंशन का भुगतान सहित शिकायतों का निवारण के बारे में भी जानकारी दी।

साथ ही उन्होंने अधिकारी एवं कर्मचारियों से कहा कि योजना की जानकारी ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के आम जनता तक पहुंचना चाहिए, एवं हितग्राहियों को योजना का लाभ भी मिलना चाहिए। कार्यक्रम में उपस्थित कलेक्टर महादेव कावरे ने भी पी.एम.एस.वॉय एम. असंगठित कामगारों के लिए पेंशन योजना के बारे में संक्षिप्त में बताई। साथ ही श्रम पदाधिकारी एन.के. साहू ने पी.एम.एस.वॉय एम. योजना के बारे में संक्षिप्त में जानकारी देते हुए बताई कि यह योजना असंगठित कामगारों की वृद्धावस्था की सुरक्षा और सामाजिक सुरक्षा लिए है, जो अधिकतर रिकशा चालक, फेरीवाला, मिड-डे मील कामगार, बोझ उठाने वाले कामगार, ईट भट्ठा कामगार, मोची, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामगार, धोबी, घर से काम करने वाले कामगार, खुद का काम करने वाले कामगार, खेतिहर कामगार, निर्माण कामगार, हथकरघा कामगार, चमड़ा कामगार सहित इसी तरह के अन्य व्यवसायों में काम करने वालों के लिए है।
साथ ही इस योजना का विषेषताएं यह है कि यह एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन योजना है, जिसके तहत् पेंशन धारकों को 60 वर्ष की आयु होने के बाद न्यूनतम तीन हजार रूपयें प्रति माह की निष्चित पेंषन मिलेगी और यदि पेंशन धारक की मृत्यु हो जाती है, तो उसकीध्उसके पतिध्पत्नी को पेंशन का पच्चास प्रतिशत पारिवारिक पेंशन के रूप में मिलेगा, पारिवारिक पेंशन केवल पति या पत्नि के लिए लागू है के संबंध में जानकारी दी।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष कविता साहू नगर पालिका अध्यक्ष विजय सिंन्हा कलेक्टर महादेव कावरे जिला पंचायत सी.ई.ओ. प्रकाश कुमार सर्वे उपस्थित थे। साथ ही श्रम पदाधिकारी एन.के. साहू, अधिकारी शमीम खान, श्रम निरीक्षक अधिकारी मुकेशपुरी गोस्वामी, श्रम उपनिरीक्षक अधिकारी आर.एस. मण्डावी, श्रम कल्याण अधिकारी शैसेन्द्र प्रताप सिंह, श्रम कल्याण निरीक्षक अधिकारी गौरव विश्वास, कल्याण निरीक्षक अधिकारी छलेष्वर साहू, सहित अधिकारी एवं कर्मचारी सहित असंगठित कामगार एवं हितग्राही बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
Next Story
Share it
Top