Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अकाल की छाया को लेकर विधानसभा में भारी हंगामा, कृषि मंत्री ने कहा - सरकार हर चुनौती से निपटने के लिए है तैयार

विधानसभा में भारी हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगित कर दी गई है। दरअसल भाजपा सदस्यों ने शून्य काल के दौरान प्रदेश में अकाल की छाया को देखते हुए सरकार की ओर से किए जा रहे कार्यों की जानकारी चाही।

अकाल की छाया को लेकर विधानसभा में भारी हंगामा, कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगितChhattisgarh News : heavy ruckus in the assembly , proceedings adjourned for ten minutes

रायपुर। विधानसभा में भारी हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए रोकनी पड़ी। दरअसल भाजपा सदस्यों ने शून्य काल के दौरान प्रदेश में अकाल की छाया को देखते हुए सरकार की ओर से किए जा रहे कार्यों की जानकारी चाही। साथ ही इस विषय पर स्थगन प्रस्ताव के माध्यम से चर्चा कराने की मांग की। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा हर वर्ष ऐसी स्थिति होने पर सरकार की ओर से आवश्यक कार्रवाई की जाती लेकिन इस बार सरकार सोई हुई है। किसान परेशान हैं। 50 फ़ीसद भी बुवाई भी नहीं हो सकी है। उन्होंने कहा कि किसानों को राहत पहुंचाने के लिए सरकार क्या करने जा रही है, इस विषय पर चर्चा होनी चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि प्रदेश में सूखा पड़ा हुआ है, प्रदेश के किसान चिंतित है। इसलिए इस विषय पर चर्चा होनी चाहिए। जनता कांग्रेस सदस्य धर्मजीत सिंह ने कहा प्रदेश में अकाल की परिस्थितियां है। इस विषय पर चर्चा कराए जाना बहुत जरूरी है। जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच भारी हंगामा हुआ और सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए रोकनी पड़ी।

सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने के बाद कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि इस बार प्रदेश में मानूसन विलंब से आया। 18 जुलाई की स्थिति में 83.7 फीसदी वर्षा हुई है। आधे छत्तीसगढ़ में 70 फीसदी से कम बारिश हुई है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि बारिश होगी और हालात सुधरेंगे। उन्होंने कहा कि पेयजल की कमी नहीं है। बिजली की सप्लाई कहीं बाधित नहीं है। उन्होंने कहा कि अकाल की स्थिति नहीं है। 28 हजार से अधिक पम्प कनेक्शन उपलब्ध कराए गए हैं। इसके साथ ही खाद्य-बीज की कहीं कमी नहीं है। मंत्री ने कहा कि सरकार किसानों के लिए संवेदनशील है।

Next Story
Share it
Top