logo
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार: चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों ने डिप्टी कलेक्टर आरपी चौहान के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा लगवाते हैं घर में झाड़ू पोछा और निहलवाते है पालतू कुत्तों को

दंतेवाड़ा में संयुक्त जिला कार्यालय के चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों ने डिप्टी कलेक्टर आरपी चौहान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कर्मचारियों ने डिप्टी कलेक्टर के खिलाफ शोषण का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की।

छत्तीसगढ़ समाचार: चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों ने डिप्टी कलेक्टर आरपी चौहान के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा लगवाते हैं घर में झाड़ू पोछा और निहलवाते है पालतू कुत्तों को
विकास तिवारी, जगदलपुर। दंतेवाड़ा में संयुक्त जिला कार्यालय के चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों ने डिप्टी कलेक्टर आरपी चौहान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कर्मचारियों ने डिप्टी कलेक्टर के खिलाफ शोषण का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की।
अधिकारियों की अफसरशाही से परेशान कर्मचारियों ने आरोप लगाया है। दंतेवाड़ा में पदस्थ अधिकारी कर्मचारियों से अपने बंगलों में झाड़ू पोछा लगवाते हैं यहां तक घरों के पालतू कुत्तों तक को उनसे नहलवाते हैं। छुट्टी लेने पर उन्हें बेवजह परेशान किया जाता है। साथ ही कार्यालय में पदस्थ या संलग्न कर्मचारियों को बिना किसी आदेश के अफसरों के बंगले में ड्यूटी लगायी जाती है।
अफसरों द्वारा कराये जा रहे इन कार्यों से परेशान भृत्‍यों ने मंगलवार की शाम डिप्‍टी कलेक्‍टर आरपी चौहान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया । संयुक्त जिला कार्यालय भवन के सभी कार्यालयों के चतुर्थ वर्ग कर्मचारी शाम के वक्त कलेक्टोरेट के मुख्य द्वार पर ही धरने पर बैठ गये। सभी ने डिप्टी कलेक्टर आरपी चौहान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
चतुर्थ वर्ग कर्मचारी संघ के लोगों की माने तो शासन द्वारा जो अवकाश उन्हें दिया जाता है उस अवकाश के दिन भी कलेक्टर आरपी चौहान काम करने को मजबूर करते हैं। श्री चौहान पर आरोपों की झड़ी लगाते कहा कि वे ड्रेस में आने के लिये कहते है लेकिन गणवेश की व्यवस्था उनके द्वारा नहीं की जाती।
गणवेश नहीं पहनकर आने पर तनख्वाह भी काटी जाती है। जिन कर्मचारियों की बंगलों में ड्यूटी लगायी जाती है वहां जिरी रजिस्टर नहीं होती लिहाजा कार्यालय में भी उनकी हाजिरी नहीं लग पाती और न ही बंगले में।
चतुर्थ वर्ग कर्मचारी संघ के नेताओं का आरोप लगाते यह भी कहा कि जिन भृत्यों की ड्यूटी अफसरों के बंगलों में खाना बनाने के नाम पर लगाया जाता है वहां उनसे घरों के पालतू कुत्ते तक धुलवाये जाते हैंं।
वहीं इस पूरे मामले में डिप्‍टी कलेक्‍टर आरपी चौहान का कहना है कि कर्मचारियों को अर्जित अवकाश नियम के तहत प्रदान किये जाते हैं। इधर बंगलों में पोछा लगवाने और कुत्‍तों को नहलाने के सवाल पर उनका कहना था कि मेरे बंगले में किसी की ड्यूटी नहीं लगी है इसलिये मैं इस बारे में कुछ भी नहीं कह सकता।
Share it
Top