logo
Breaking

विक्रम उसेंडी को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर रमन सिंह ने दी बधाई, कहा - आपके कर्मठ नेतृत्व से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ेगा

कांकेर से सांसद विक्रम उसेंडी को छत्तीसगढ़ बीजेपी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद पूर्व सीएम रमन सिंह ने विक्रम उसेंडी को बधाई दी है। रमन सिंह ने ट्विटर पर लिखा है " विक्रम उसेंडी को अध्यक्ष पद पर नियुक्त किये जाने पर हार्दिक शुभकामनाएँ। आपके कर्मठ नेतृत्व से सभी कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढ़ावा मिलेगा व लोकसभा चुनाव में विजय प्राप्त कर हम नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने का पथ निर्मित करेंगे।

विक्रम उसेंडी को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर रमन सिंह ने दी बधाई, कहा - आपके कर्मठ नेतृत्व से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ेगा

रायपुर। कांकेर से सांसद विक्रम उसेंडी को छत्तीसगढ़ बीजेपी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद पूर्व सीएम रमन सिंह ने विक्रम उसेंडी को बधाई दी है। रमन सिंह ने ट्विटर पर लिखा है " विक्रम उसेंडी को अध्यक्ष पद पर नियुक्त किये जाने पर हार्दिक शुभकामनाएँ। आपके कर्मठ नेतृत्व से सभी कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढ़ावा मिलेगा व लोकसभा चुनाव में विजय प्राप्त कर हम नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने का पथ निर्मित करेंगे।

वहीं नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि सांसद विक्रम उसेंडी सदैव आम जनों के बीच लोकप्रिय रहे हैं। उनके सांगठनिक अनुभवों का लाभ हम सबको मिलेगा। उनके नियुक्ति पर राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पाण्डेय, अनुसूचित मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविचार नेताम, केन्द्रीय राज्यमंत्री विष्णुदेव साय व प्रदेश महामंत्री संतोष पाण्डेय, डॉ. सुभाऊ राम कश्यप, गिरधर गुप्ता, प्रवक्ता शिवरतन शर्मा, सच्चिदानंद उपासने, संजय श्रीवास्तव, श्रीचंद सुंदरानी, भुपेन्द्र सवन्नी सहित विधायक, सांसद, पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने बधाई दी है।

उपाध्यक्ष से बने अध्यक्ष : कांकेर जिले के अंतागढ़ के बोंदानार गांव में जन्मे विक्रम उसेंडी नब्बे के दशक में शिक्षक के पद से इस्तीफा देकर राजनीति में आये। वे 1993 में अविभाजित मध्यप्रदेश के नारायणपुर विधानसभा से पहली बार विधायक चुनकर भोपाल पहुंचे। इस दौरान युवा मोर्चा के विभिन्न सांगठनिक पदों पर रहते हुए संगठन को मजबूत करने में जुटे रहे। छत्तीसगढ़ निर्माण के बाद 2003 में फिर से विधायक निर्वाचित हुए और शिक्षा मंत्री बनाये गये। उसके उपरांत बस्तर विकास प्राधिकरण के 2004 से 08 तक अध्यक्ष रहे। 2008 में अंतागढ़ विधानसभा से निर्वाचित होकर 2013 तक छत्तीसगढ़ सरकार में केबिनेट मंत्री बनाए गये। 2013 के विधानसभा चुनाव में जीत कर विधानसभा पहुंचे। 2014 लोकसभा चुनाव में कांकेर लोकसभा से विजयी होकर सांसद निर्वाचित हुए। 2002 में कांकेर जिला के भाजयुमो के अध्यक्ष भी रहे। 1997-98 में मध्यप्रदेश विधायक दल का क्यूबा में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय युवा सम्मेलन में शामिल हुए।

Share it
Top