logo
Breaking

CG News: फिर आपस में भिड़े NSUI और ABVP कार्यकर्ता, जमकर हुई मारपीट Watch Video

कुशाभाऊ ठाकरे यूनिवर्सिटी में एक बार फिर आज NSUI और ABVP कार्यकर्ता के बीच जमकर मारपीट हुई। जिसके बाद दोनों पक्षों को पुलिस मुजगहन थाने ले गई।

CG News: फिर आपस में भिड़े NSUI और ABVP कार्यकर्ता, जमकर हुई मारपीट Watch Video

मनोज नायक, रायपुर। कुशाभाऊ ठाकरे यूनिवर्सिटी में एक बार फिर आज NSUI और ABVP कार्यकर्ता के बीच जमकर मारपीट हुई। जिसके बाद दोनों पक्षों को पुलिस मुजगहन थाने ले गई। ABVP कार्यकर्ताओं पुतला दहन किया उसी समय NSUI कार्यकर्ताओं के पहुंच गए दोनों पक्षों के बीच एक बार फिर तनाव उत्पन्न हो गया। विश्वविद्यालय के गेट सामने आपस में ​भीड़ गए।

CG News: NSUI और ABVP कार्यकर्ता आपस में भिड़े, किसी का पांव टूटा तो किसी का सिर फूटा, KTU का मामला

कुशाभाउ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय बीते 2 दिनों से एबीवीपी और एनएसयूआई के छात्रों का अखाड़ा बना हुआ है| दोनो छात्र संगठन एक दूसरे के खिलाफ मुखर होने के साथ साथ मारपीट पर भी उतारू है और अब पूरा मामला पुलिस के पास जा चुका है। पुलिस ने मामले में कार्रवाई भी शुरू कर चुकी है।

आपको बता दे कि विश्वविद्यालय में मारपीट की घटना की शुरुआत गुरुवार को उस समय हुई जब विश्वविद्यालय के ही प्रोफ़ेसर आशुतोष मंडावी द्वारा छात्रों की बैठक ली जा रही थी तभी एनएसयूआई के कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए वहां पहुंचे थे एनएसयूआई के छात्रों का आरोप था कि प्रोफेसर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं को प्रश्रय दे रहे हैं। और आने वाले छात्र संघ चुनाव में फायदा दिलवाने के लिए अभी से बैठकों का दौर शुरू कर चुके हैं। इसके बाद वहां जमकर मारपीट भी हुई थी। वही इस मामले में तनाव बढ़ता देख विश्वविद्यालय प्रबंधन ने अपने प्रोफ़ेसर से स्पष्टीकरण भी मांगा है।

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय में घटना की शुरुआत बुधवार को हो गई थी। इसके बाद से लगातार तनाव का माहौल बना हुआ था। वही आज इस मामले को लेकर एबीवीपी के सदस्यों ने विश्वविद्यालय के सामने पुतला दहन का कार्यक्रम भी रखा था और इसकी जानकारी जब एनएसयूआई के छात्रों को हुई तो वह भी मौके पर पहुंचे और इसका विरोध करना शुरू कर दिया। इसके बाद वहां एक बार फिर तनाव का माहौल देखने को मिला। थोड़ी ही देर में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई व एबीवीपी के छात्रों को लेकर मुजगहन थाने आ गई। वहीं एनएसयूआई के कार्यकर्ता वापस लौट गए थे। अब पुलिस का कहना है कि वह इस मामले में शिकायत के आधार पर कार्रवाई कर रही हैं।

दूसरी ओर इस मामले में abvp के कार्यकर्ताओं ने nsui पर गुंडागर्दी का आरोप लगाते हुए थाने में शिकायत की है। abvp का कहना है कि nsui विशविद्यालय को राजनीति का अखाड़ा बना कर छात्रसंघ चुनाव में फायदा उठाना चाहती है। इसलिए पूरे विश्वविद्यालय परिसर में राजनीतिक दल के पोस्टर पाम्पलेट चिपका दिए है। इसलिए आज उन्होंने nsui का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया है।

जबकि दूसरी ओर एनएसयूआई का आरोप है कि एक सरकारी कॉलेज में किसी प्रोफेसर द्वारा दलगत राजनीति करना घोर निंदनीय है और इस मामले में विश्व विद्यालय प्रबंधन को तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए।

एनएसयूआई से जुड़े सदस्यो ने बताया कि उन्होंने इस मामले की शिकायत पुलिस में भी शुक्रवार को कर दी थी और आज कुलसचिव से प्रोफेसर के खिलाफ शिकायत की है। एनएसयूआई के सदस्यों ने एबीवीपी पर गुंडागर्दी का आरोप लगाया और कहा कि उनके पोस्टर और पंपलेट को जलाकर एबीवीपी ने अपनी गुंडागर्दी भी दिखा दी है वहीं शिक्षा के मंदिर में हो रहे तांडव को लेकर विश्वविद्यालय प्रबंधन कुछ भी कहने से बच रहा है और उनका कहना है कि इस मामले में संबंधित पक्षों को नोटिस दे दिया गया है और उनसे जानकारी जुटाई जा रही है। जो भी दोषी होगा उस पर नियमानुसार कार्यवाही भी की जाएगी। लेकिन प्रबंधन ने विश्वविद्यालय परिसर में हुई मारपीट की घटना को लेकर पुलिस में किसी भी प्रकार की शिकायत के संबंध में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

बहरहाल सरकार बदलने के बाद जिस प्रकार के हालात अब कुशाभाउ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय में बन रहे है वह पत्रकारिता से जुड़े लोगों के लिए कतई अच्छी नही कही जा सकती है। शिक्षा के मंदिर में हो रहे तांडव ने पत्रकारिता से जुड़े बुद्धिजीवियों को भी अब सोचने को मजबूर कर दिया है। कि पत्रकारिता की भावी पीढ़ी किस दिशा में जा रही है।

Latest

View All

वायरल

View All

गैलरी

View All
Share it
Top