Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अंतागढ़ टेपकांड मामले में डॉ. पुनीत आज पहुंचेंगे SIT के दफ्तर, कहा नहीं दूंगा वॉइस सैंपल

अंतागढ़ टेपकांड में आरोपी बनाए गए डॉ. पुनीत गुप्ता गुरुवार को SIT के सामने पेश होंगे। डॉ. पुनीत को वॉइस सैंपल देने के लिए नोटिस देकर बुलाया गया है लेकिन उन्होंने वॉइस सैंपल देने से इंकार कर दिया है।

अंतागढ़ टेपकांड मामले में डॉ. पुनीत आज पहुंचेंगे SIT के दफ्तरdr. puneet gupta to reach SIT office today in antagarh tape scam

रायपुर। अंतागढ़ टेपकांड में आरोपी बनाए गए डॉ. पुनीत गुप्ता गुरुवार को एसआईटी के सामने पेश होंगे। डॉ. पुनीत को वॉइस सैंपल देने के लिए नोटिस देकर बुलाया गया है लेकिन उन्होंने वॉइस सैंपल देने से इंकार कर दिया है। उन्होंने कहा, SIT ने नोटिस दिया है इसलिए पेश होने के लिए SIT के दफ्तर जाएंगे।

इसके पहले बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी को भी SIT ने वॉइस सैंपल देने के लिए बुलाया था लेकिन अजीत वॉइस सैंपल देने SIT के दफ्तर नहीं पहुंचे थे। बता दें मंगलवार को अमित जोगी को और सोमवार को मंतूराम पवार को भी SIT ने वॉइस सैंपल देने के लिए बुलाया था।

लेकिन दोनों ने ही वॉइस सैंपल देने साफ इंकार कर दिया। अमित जोगी ने ट्विटर पर कहा था कि SIT चाहे तो उन्हें गिरफ्तार कर ले, लेकिन वह वॉइस सैंपल नहीं देंगे। वहीं मंतूराम पवार ने कहा था कि जब तक कोर्ट के आदेश की कॉपी नहीं दिखाई जाती है तब तक वॉइस सैंपल नहीं दूंगा।

गौरतलब है अंतागढ़ टेपकांड मामले में किरणमई नायक की शिकायत पर पंडरी थाने में मंतूराम पवार, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी, डॉ. पुनीत गुप्ता, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

क्या है मामला - साल 2014 में कांकेर जिले के अंतागढ़ के तत्कालीन विधायक विक्रम उसेंडी ने लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद इस्तीफा दिया था। जिसके बाद वहां उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने पूर्व विधायक मंतू राम पवार को प्रत्याशी बनाया था। लेकिन नाम वापसी के अंतिम वक्त पर मंतूराम ने अपना नामांकन वापस ले लिया था। जिससे भाजपा को एक तरह का वाकओवर मिल गया था। बाद में फिरोज सिद्दीकी नाम से एक व्यक्ति का फोन कॉल वायरल हुआ था।

Share it
Top