Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पश्चिम बंगाल में डॉक्टर्स की हड़ताल का छत्तीसगढ़ में भी असर, हड़ताल से मरीजों पर सकंट

पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा को लेकर 4 दिन से चल रही हड़ताल ने अब एक राष्ट्रव्यापी हड़ताल का रूप ले लिया है। दिल्ली, हैदराबाद, मुंबई, मध्यप्रदेश और बिहार के बाद आज से छत्तीसगढ़ के डॉक्टरों ने भी शुक्रवार को अपना समर्थन दिया है।

पश्चिम बंगाल में डॉक्टर्स की हड़ताल का छत्तीसगढ़ में भी असर, हड़ताल से मरीजों पर सकंट

रायपुर। पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा को लेकर 4 दिन से चल रही हड़ताल ने अब एक राष्ट्रव्यापी हड़ताल का रूप ले लिया है। दिल्ली, हैदराबाद, मुंबई, मध्यप्रदेश और बिहार के बाद आज से छत्तीसगढ़ के डॉक्टरों ने भी शुक्रवार को अपना समर्थन दिया है।

राजधानी रायपुर मेकाहारा के डॉक्टर्स भी आज से हड़ताल पर बैठ गये हैं। डॉ. भीमराव अंबेडकर मेमोरियल अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा पर विरोध जताते हुए 'वी वांट जस्टिस' के नारे लगाए। doctorहड़ताल से ओपीडी में आज जहां स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित रहेंगी। वहीं मरीजों को आज परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। केवल एमरजेंसी सेवा ही मरीजों को मिल रही हैं।

बीते 4 दिनों के बाद कोलकाता में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के बीच अब दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन (DMA) और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने हड़ताल बुलाई है। इस हड़ताल का असर देश के बड़े बड़े अस्पतालों पर देखा जा सकता है।

जानें क्या है पूरा मामला

दरअसल, कोलकाताल के एनआरएस (नीलरतन सरकारी मेडिकल) मेडिकल कॉलेज में इउलाज के दौरान एक 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई थी। बुजुर्ग के परिवार वालों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया और डॉक्टरों की पिटाई कर दी। आरोप है की करीब 200 लोग ट्रकों में भरकर आए और अस्पताल पर हमला कर दिया। इस हमले में दो जूनियर डॉक्टर बुरी तरह से घायल हो गए।

इसके बाद से ही जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हो रहा है। डॉक्टर्स मारपीट की घटना में जिम्मेदार लोगों को गिरफ्तार कर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है क‍ि तब तक कार्रवाई नहीं होती तब तक यह हड़ताल जारी रहेगी। जिसके बाद राज्य में राजनीति शुरू हो गई। वहीं ममता बनर्जी ने डॉक्टरों को वापस आने के लिए 4 घंटे की मौहलत दी लेकिन वो वापस नहीं आए।

Next Story
Share it
Top