logo
Breaking

जिला पंचायत सदस्य रोहिणी लापता, देवर ने लगाया पंचायत अध्यक्ष देवीसिंह पर अपहरण का आरोप, कहा- कुर्सी बचाने के लिए वोटिंग करने से रोका

अविश्वास प्रस्ताव पर फैली गहमागहमी के बीच जिला पंचायत सदस्य रोहिणी रजक के देवर ने कटघोरा थाने में उनके अपहरण किये जाने की शिकायत दर्ज करायी है। अपहरण का आरोप जिला पंचायत अध्यक्ष देवीसिंह टेकाम पर लगाया गया है। इससे जुड़ा एक शिकायती पत्र कटघोरा थाने में दिया गया है।

जिला पंचायत सदस्य रोहिणी लापता, देवर ने लगाया पंचायत अध्यक्ष देवीसिंह पर अपहरण का आरोप, कहा- कुर्सी बचाने के लिए वोटिंग करने से रोका
उमेश यादव, कोरबा। अविश्वास प्रस्ताव पर फैली गहमागहमी के बीच जिला पंचायत सदस्य रोहिणी रजक के देवर ने कटघोरा थाने में उनके अपहरण किये जाने की शिकायत दर्ज करायी है। अपहरण का आरोप जिला पंचायत अध्यक्ष देवीसिंह टेकाम पर लगाया गया है। इससे जुड़ा एक शिकायती पत्र कटघोरा थाने में दिया गया है।
पत्र में देवर संतोष कुमार रजक ने दावा किया गया है कि बीती सुबह करीब 10:30 बजे चार पहिया वाहन में आये कुछ लोग जिला पंचायत सदस्य रोहिणी रजक को साथ ले गए। इसके बाद से ही उनका श्रीमती रजक से कोई संपर्क नही हो सका है। संतोष ने बताया जब उसने रोहिणी से बात करने के लिए उनके नंबर पर फोन लगाया तो वह बंद बता रहा था।
संतोष के द्वारा अपहरण का यह पूरा सनसनीखेज आरोप अध्यक्ष देवी सिंह टेकाम पर लगाया गया है।रोहिणी के देवर ने आशंका जताते हुए कहा कि अपनी कुर्सी बचाने के लिए अध्यक्ष ने ही रोहिणी रजक को वोटिंग के दौरान सदन में उपस्थित होने से रोका है।
हालांकि इस सियासी आरोप में कितनी सच्चाई है इसका खुलासा पुलिस की छानबीन के बाद साफ हो सकेगा। गौर करने वाली बात है कि श्रीमती रजक वोटिंग दौरान नदारद थी और यदि उनका मत प्रस्ताव के पक्ष में होता तो निश्चित ही देवी सिंह को अपनी कुर्सी गंवानी पड़ सकती थी।
Share it
Top