Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ समाचार: कल बस्तर के किसानों को अधिग्रहित भूमि लौटाएंगे राहुल गांधी, 131 करोड़ के विकास कार्यों का होगा लोकार्पण

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनके मंत्रीमंडल सहयोगियों की उपस्थिति में कल बस्तर जिले के लोहण्डीगुड़ा विकासखण्ड के धुरागांव में आयोजित विशाल आदिवासी कृषक अधिकार सम्मेलन में शामिल होंगे और वहां टाटा इस्पात संयंत्र के लिए अधिग्रहित भूमि के प्रभावित 1707 किसानों कोे अधिग्रहित 4359 एकड़ भूमि के दस्तावेज सौंपेंगे।

छत्तीसगढ़ समाचार: कल बस्तर के किसानों को अधिग्रहित भूमि लौटाएंगे राहुल गांधी, 131 करोड़ के विकास कार्यों का होगा लोकार्पण
X

बस्तर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनके मंत्रीमंडल सहयोगियों की उपस्थिति में कल बस्तर जिले के लोहण्डीगुड़ा विकासखण्ड के धुरागांव में आयोजित विशाल आदिवासी कृषक अधिकार सम्मेलन में शामिल होंगे और वहां टाटा इस्पात संयंत्र के लिए अधिग्रहित भूमि के प्रभावित 1707 किसानों कोे अधिग्रहित 4359 एकड़ भूमि के दस्तावेज सौंपेंगे। सम्मेलन में सांसद गांधी बस्तर संभाग के एक लाख 17 हजार 218 किसानों से 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदे गए धान की राशि एक हजार 328 करोड़ रुपए का भुगतान किया जाएगा।

इसके साथ ही एक लाख 40 हजार 479 किसानों के 582 करोड़ रुपए के कर्जमाफी दस्तावेज प्रदान करेंगे। इस मौके पर वे कोण्डागांव में 105 करोड़ रुपए की लागत से प्रस्तावित मक्का प्रसंस्करण केन्द्र का भी शिलान्यास करेंगे। राहुल गांधी सम्मेलन में संभाग के 1834 हितग्राहियों को व्यक्तिगत वनाधिकार पत्र तथा 261 सामुदायिक वनाधिकार पत्र भी प्रदान करेंगे। इस अवसर पर वेदमाता कृषक कल्याण समिति बारदा तथा जय बूढ़ादेव कृषक कल्याण समिति उरन्दाबेड़ा के किसानों को ट्रेक्टर, कल्टीवेटर, सीड ड्रिल, थ्रेसर, रिपर,स्प्रेयर प्रदान किया जाएगा।

राहुल गांधी इस सम्मेलन में 21 करोड़ 75 लाख रुपए के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे। इनमें 8 करोड़ 90 लाख रुपए की लागत से सुकमा और धुरागांव में स्थापित फूड पार्क, टेकनार और लखनपुरी में 6 करोड़ 75 लाख रुपए की लागत से स्थापित लघु उद्योग केन्द्र, 5 करोड़ 86 लाख रुपए की लागत से जगदलपुर में स्थापित प्लग टाईप वेजीटेबल सीडिलिंग प्रोडक्शन इकाई और 24 लाख रुपए की लागत से बस्तर और तोकापाल में स्थापित काजू प्रसंस्करण केन्द्र शामिल है। इसी प्रकार लोहण्डीगुड़ा में डेढ़ करोड़ रुपए की लागत से स्थापित किए जाने वाले लघु वनोपज प्रसंस्करण केन्द्र ,दो करोड़ 85 लाख रुपए की लागत से कांगेर नाला और उधीरनाला में बनाए जाने वाले 5 पुलों का भूमिपूजन भी करेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story