logo
Breaking

Video: चुनाव ड्यूटी करने शिक्षकों ने जताई असमर्थता, कलेक्टर ने परमानेंट छुट्टी का दिया फरमान, चार​ शिक्षकों को थमाया नोटिस

कुछ शिक्षकों ने कलेक्टर के सामने चुनाव ड्यूटी नहीं कर पाने की असमर्थता क्या जताई कलेक्टर ने सीधे ​जारी किया फोर्सली रिटायरमेंट का ओदश। वहीं कलेक्टर के निर्देश के बाद DEO की तरफ से संबधित शिक्षकों के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया गया है।

Video: चुनाव ड्यूटी करने शिक्षकों ने जताई असमर्थता, कलेक्टर ने परमानेंट छुट्टी का दिया फरमान, चार​ शिक्षकों को थमाया नोटिस

अंकिता शर्मा, रायपुर। कुछ शिक्षकों ने कलेक्टर के सामने चुनाव ड्यूटी नहीं कर पाने की असमर्थता क्या जताई कलेक्टर ने सीधे ​जारी किया फोर्सली रिटायरमेंट का ओदश। वहीं कलेक्टर के निर्देश के बाद DEO की तरफ से संबधित शिक्षकों के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया गया है।

No photo description available.

दरअसल, रायपुर कलेक्टर ​बसव राजू के पास अलग अलग वजहों को लेकर कई लोगों ने चुनाव ड्यूटी नहीं करने की असमर्थता जताते हुए आवेदन आ रहे थे। जिसके बाद कलेक्टर ने यह आदेश जारी कर दिया। कलेक्टर ने कहा, अगर इस तरह आवेदन कर सभी लोग छुट्टी मांगेंगे तो चुनाव कैसे संपन्न होगा। लोकतंत्र के महापर्व में जो साथ नहीं दे सकता ऐसे व्यक्तियों की जरूरत नहीं। सभी की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि मिलकर लोकतंत्र के महापर्व को सफलता पूर्वक संपन्न कराएं।

No photo description available.
चुनाव ड्यूटी लगने के बाद चारों शिक्षकों ने मेडिकल ग्राउंड के आधार पर छुट्टी के लिए आवेदन दिया था और मांग की थी उन्हें उनकी बीमारी के आधार पर चुनाव ड्यूटी से अलग किया जाये। इन सभी ने खुद को शुगर का पेसेंट बताते हुए चुनाव ड्यूटी से खुद को राहत देने की मांग की थी।

इस आवदेन पर कलेक्टर ने आदेश जारी करते हुए सभी के खिलाफ अनिवार्य सेवानिवृति का प्रस्ताव डीईओ को भेजने को कहा है। साथ ही पत्र में ये भी कहा गया है कि जिन लोगों ने 50 साल की आयु अथवा 20 वर्ष की सेवा पूरी कर ली है उन सभी की छानबीन कर अनिवार्य सेवानिवृत किया जाए।
Share it
Top