Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार/ CM भूपेश- जो मौत से नहीं डरता वो CBI से क्या डरेगा, रमन मुझ पर एक उंगली उठाएंगे तो तीन उंगली उनकी तरफ होगी Watch Video

सुपर सीएम का सुपर घोटाला बेनकाब हो गया है। किसी भी जांच एजेंसी से डरने का तो सवाल ही नहीं उठता। 15 सालों में रमन सिंह ने बहुत डराने की कोशिश की है। जिसे मौत का भय नहीं, वो सीबीआई से क्या डरेगा? रमन सिंह मुझ पर एक उंगली उठाएंगे तो तीन उंगली उनकी तरफ होगी। उक्त बातें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व सीएम रमन सिंह के सीबीआई जांच से डर लगने वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहीं।

छत्तीसगढ़ समाचार/ CM भूपेश- जो मौत से नहीं डरता वो CBI से क्या डरेगा, रमन मुझ पर एक उंगली उठाएंगे तो तीन उंगली उनकी तरफ होगी Watch Video
गौरव शर्मा, रायपुर। सुपर सीएम का सुपर घोटाला बेनकाब हो गया है। किसी भी जांच एजेंसी से डरने का तो सवाल ही नहीं उठता। 15 सालों में रमन सिंह ने बहुत डराने की कोशिश की है। जिसे मौत का भय नहीं, वो सीबीआई से क्या डरेगा? रमन सिंह मुझ पर एक उंगली उठाएंगे तो तीन उंगली उनकी तरफ होगी। उक्त बातें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व सीएम रमन सिंह के सीबीआई जांच से डर लगने वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहीं।
राजीव भवन में आयोजित एक पत्रकार वार्ता के दौरान सीएम भूपेश ने कहा, एक ही कम्पयूटर से टेंडर भरे जा रहे थे तो समझा जा सकता है कि सरकार कैसे काम कर रही थी। जिस जांच को भाजपा बदलापुर करार दे रही है वह न्याय की बात है।

CBI को छत्तीसगढ़ में बिना इजाजत घुसने नहीं देने के फैसले को लेकर रमन सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीखा पलटवार करते हुए कहा, जिसे मौत का भय नहीं, वो सीबीआई से क्या डरेगा? किसी भी जांच एजेंसी से डरने का तो सवाल ही नहीं उठता। यह संघीय ढांचे को मजबू करने के लिए लिया गया निर्णय है।
सीएम बघेल ने कहा आज भारतीय जनता पार्टी CBI को रोकने के फैसले को लेकर सवाल उठा रही है लेकिन हकीकत यह है कि खुद भाजपा सरकार ने ही अपने कार्यकाल में इसका विरोध जताया था।
उन्होंने कहा भारत में संविधान का संघीय ढांचा है। इसके अनुरूप केंद्र सरकार और राज्य सरकार से अधिकार स्पष्ट किए गए हैं। सीबीआई केंद्र सरकार की एजेंसी है जिसे किसी भी राज्य में जांच करने के पहले राज्य सरकार की अनुमति प्राप्त करना आवश्यक एवं संविधान के अनुसार बंधनकारी है।
तात्कालीन भाजपा सरकार ने सीबीआई को छत्तीसगढ़ में किसी भी जांच के पहले अनुमति प्राप्त करने की आवश्यकता से मुक्त कर दिया था।
उन्होंने कहा कि 2001 में एसीएस के रूप में एक विजयवर्गीय ने पत्र लिखा था। 2012 में मुख्यमंत्री के ओएडी रहते हुए सीबीआई के संदर्भ में पत्र लिखकर अनुमति वापस ली थी। आज पूर्व मुख्यमंत्री जी जो आरोप लगा रहे है उससे वह स्वयं सहमत रहे हैं। सीएम ने कहा कि जहां न्याय की संभावना है वहां जांच भी होगी और काम भी चलता रहेगा।
संविदा अधिकारियों और कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने के आदेश पर उन्होंने कहा जिनकी आवश्यकता रहेगी वो काम करेंगे। सिर्फ ​पदों को भरने के लिए जिनकी नियुक्ति की गई है वो वापस जाएंगे।
सीएम भूपेश ने पुन्नी मेले पर कहा कि पुन्नी मेला हमारी सांस्कृतिक विरासत है। पुन्नी मेला प्रदेश की पहचान संस्कृति और परंपरा है उसे हम बरकरार रखने का प्रयास कर रहे हैं।
Next Story
Share it
Top