Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कलेक्टर एस.पी. कान्फ्रेंस में प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने पर सीएम भूपेश बघेल ने दिया जोर, अधिकारियों का बढ़ाया हौसला

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में गुरुवार को कलेक्टर-एस.पी.की कान्फ्रेंस हुई। कॉन्फ्रेंस के पहले सत्र में राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारी, राज्य के सभी संभागों के कमिश्नर, जिला कलेक्टर, जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और नगर निगमों के आयुक्त भी उपस्थित हुए।

कलेक्टर एस.पी. कान्फ्रेंस में प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने पर सीएम भूपेश बघेल ने दिया जोर, अधिकारियों का बढ़ाया हौसला
X

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में गुरुवार को कलेक्टर-एस.पी.की कान्फ्रेंस हुई। कॉन्फ्रेंस के पहले सत्र में राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारी, राज्य के सभी संभागों के कमिश्नर, जिला कलेक्टर, जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और नगर निगमों के आयुक्त भी उपस्थित हुए। सीएम बघेल ने इस दौरान अधिकारियों के सुझाव सुने और उनका हौसला भी बढ़ाया। सीएम ने कहा कि छत्तीसगढ़ में प्रति व्यक्ति आय बढ़ाना है। इससे गांव की अर्थव्यवस्था में आमूल चूल परिवर्तन होगा।

सीएम ने कहा कि प्रदेश में 1866 गोठानों का चिन्हांकन किया गया है। इसमें से 260 स्थानों में कार्य प्रारम्भ किया गया है। मुख्यमंत्री ने अवलोकन किए गए गोठानों की सराहना की। उन्होंने कहा कि गोठानों में सीमेंट और कांक्रीट का उपयोग न हो इसके लिए ​भी उचित नीति पर काम करना है। उन्होंने नरवा, गरुवा, घुरवा और बाड़ी योजना में ग्रामीणों की सहभागिता बढ़ाने पर जोर दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संभागायुक्त और कलेक्टर, अनुविभागीय दंडाधिकारी और तहसील कार्यालयों का नियमित निरीक्षण करें। लोक सेवा गारंटी का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने संभागायुक्तों को लगातार मानिटरिंग और तहसील कार्यालयों के दौरा करने के निर्देश भी सीएम ने दिए। इसके साथ ही सीएम ने नदियों के किनारे की खाली जगहों पर वृक्षारोपण करने की बात कही। उन्होंने कहा कि नदी किनारे वृक्षारोपण के लिए लक्ष्य तय कर जल्द काम शुरू किया जाए। सीएम ने लिफ्ट एरीगेशन के माध्यम से सिंचाई के लिए शबरी नदी के किनारे सोलर पंप स्थापित करने के भी निर्देश दिए।


भूमिगत जलस्तर बढ़ाने पर जोर - सीएम ने बैठक के दौरान भूमिगत जलस्तर बढ़ाने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि भूमिगत जल का स्तर बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक नालों को रिचार्ज करें। इसके लिए व्यापक कार्ययोजना बनाएं। सीएम ने अधिकारियों से कहा कि तालाब गहरा हो, बोर खोदें तो रिचार्जिंग भी कराएं। उन्होंने कहा कि इसमें नरवा योजना महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि बरसात के पहले कच्ची मिट्टी, बोल्डर चेकडैम और नालाबंधान के कार्यों में तेजी लाएं।

सीएम ने कहा कि स्थानीय कृषि व वन उत्पादों के वैल्यू एडीशन के लिए प्रसंस्करण इकाई बढ़ाएं। स्वयं सहायता समूह के साथ ही अब बड़े पैमाने पर व्यावसायिक उत्पादन पर भी जोर दें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कृषि और उद्यानिकी फसलों के उत्पादन और वनोपज संग्रहण के आधार पर अलग-अलग क्षेत्रों में उद्योग स्थापित करने की कार्ययोजना बनाएं।

पोषण स्तर सुधारने पर जोर - मुख्यमंत्री ने कहा कि गर्भवती माताओं और बच्चों को सुपोषित बनाने पर जोर दिया जाना चाहिए। इसके लिए राशि की कमी नहीं होने दी जायेगी। उन्होने कहा कि अगर राज्य के बच्चे कुपोषित रहे तो राज्य कुपोषित बना रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चो को सुपोषित आहार समय पर मिले।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top