logo
Breaking

क्लोरीन गैस ​रिसाव से बिगड़ी आठ कर्मचारियों की तबीयत, नगर निगम के फिल्टर प्लांट में हुआ हादसा, कलेक्टर ने दिए जाचं के आदेश

नगर निगम के 24 MLD पुराने वॉटर फिल्टर प्लांट में क्लोरीन गैस के रिसाव होने से 8 कर्मचारियों की अचानक तबीयत खराब होने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है प्लांट का गंदा पानी जल्द साफ करने के चक्कर में ज्यादा क्लोरीन डाल दिया गया था।

क्लोरीन गैस ​रिसाव से बिगड़ी आठ कर्मचारियों की तबीयत, नगर निगम के फिल्टर प्लांट में हुआ हादसा, कलेक्टर ने दिए जाचं के आदेश

आनंद नारायण ओझा, दुर्ग। नगर निगम के 24 MLD पुराने वॉटर फिल्टर प्लांट में क्लोरीन गैस के रिसाव होने से 8 कर्मचारियों की अचानक तबीयत खराब होने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है प्लांट का गंदा पानी जल्द साफ करने के चक्कर में ज्यादा क्लोरीन डाल दिया गया था।

जिसके बाद गैस का रिसाव होने के कारण कर्मचारी दम घुटने के कारण बेहोश हो गए। जिस के बाद सभी को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं कलेक्टर उमेश अग्रवाल ने एडीएम संजय अग्रवाल को जांच के आदेश दिए हैं।

घटना की सूचना मिलते ही फिल्टर प्लांट में दमकल कर्मी और बचाव दल ने मौके पर पहुंचकर कुछ देर में रिसाव पर काबू पा लिया। इस संबंध में अधिकारियों का कहना है कि यह मामूली रिसाव था और इस रिसाव में कुछ कर्मचारियों को थोड़ी ही परेशानी हुई है जिन्हें समय पर इलाज के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है। सभी कर्मचारियों की स्थिति सामान्य बनी हुई है।
महापौर चंद्रिका चंद्राकर के निर्देश पर निगम आयुक्त लोकेश्वर साहू ने प्रभारी इंजीनियर आरके जैन को तत्काल प्रभाव से हटाकर जांच के आदेश दिए हैं। वहीं महापौर गैस पीड़ि़तों से मिलने जिला चिकित्सालय पहुंची थी।
Share it
Top