logo
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार: बीएसपी कर्मचारियों को केंद्र सरकार का तोहफा, कई सालों से लंबित पेंशन स्कीम को मिली मंजूरी

भारत सरकार के इस्पात मंत्रालय ने महारत्न कम्पनियों के लिए कई सालों से लंबित पेंशन स्कीम को मंजूरी दे दी है। यह स्कीम भारत के सभी महारत्न कम्पनियों में लागू होगी। जिसके बाद बीएसपी कर्मियों और अफसरों के लिए राहत की खबर है।

छत्तीसगढ़ समाचार: बीएसपी कर्मचारियों को केंद्र सरकार का तोहफा, कई सालों से लंबित पेंशन स्कीम को मिली मंजूरी

आनंदनारायण ओझा , दुर्ग। भारत सरकार के इस्पात मंत्रालय ने महारत्न कम्पनियों के लिए कई सालों से लंबित पेंशन स्कीम को मंजूरी दे दी है। यह स्कीम भारत के सभी महारत्न कम्पनियों में लागू होगी। जिसके बाद बीएसपी कर्मियों और अफसरों के लिए राहत की खबर है। इस स्कीम के लागू होने के बाद भीलाई इस्पात सयंत्र के लगभग 25 से 30 हजार रिटायर कर्मियों और अफसरों को लाभ मिल सकेगा। इसके लिए एनजेसीएस की सब - कमेटी भी गठित की गई है। प्रबन्धन अधिकारियों के लिए 9 फीसदी और कर्मियों के लिए 6 फीसदी अंशदान देगा। बता दें कि अधिकारियों को साल 2007 से और कर्मियों को साल 2012 से इसका लाभ मिलेगा ।

अभी तक बीएसपी कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति के पश्चात पेंशन मिल सके इसलिए थर्ड बेनीफिट के रूप में सेल एंप्लाई सुपरनुएशन बेनीफिट फंड (एसईएसबीएफ) स्कीम लागू की गई थी। इस निधि में 1 जनवरी 1989 से प्रत्येक कर्मचारी का बेसिक व डीए का 2 प्रतिशत राशि जमा हो रही है। पहले प्रबंधन भी इतनी ही राशि बतौर अंशदान जमा करता था, लेकिन पिछले चार साल से बंद कर दिया गया था। एसईएसबीएफ कमेटी की बैठक में इस मुद्दे पर कई बार चर्चा हुई, लेकिन कोई बात नहीं बनी। ऐसे में कर्मचारियों को नई पेंशन स्कीम का बेसब्री से इंतजार था।

अब महारत्न कम्पनियों के एक लाख कर्मचारियो व 18 हजार अधिकारियों को इसका लाभ मिलेगा। नई स्कीम में पेंशन की नई स्कीम में सेल प्रबंधन ने बेसिक व डीए का अधिकतम 9 प्रतिशत अंशदान देने की घोषणा की है। इसमें कर्मचारियों की कितनी हिस्सेदारी रहेगी, रिटायरमेंट के बाद कितनी राशि मिल सकेगी, इस पर एनजेसीएस (नेशनल ज्वाइंट कमेटी फॉर स्टील) की सब कमेटी विचार करेगी। वैसे कर्मियों अपेक्षा है कि रिटायरमेंट के बाद उन्हें कम से कम 10 हजार पेंशन मिलेगा।

Share it
Top