Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

टेरर फंडिंग केस में आरोपियों को नहीं मिली राहत, बिलासपुर हाईकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

टेरर फंडिंग केस में हाईकोर्ट ने आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी है। जानकारी के मुताबिक 2017 में सिविल लाइन पुलिस ने टेरर फंडिंग के मामले का भंडाफोड़ किया था।

टेरर फंडिंग केस में आरोपियों को नहीं मिली राहत, बिलासपुर हाईकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिकाBilaspur High Court dismisses bail plea of acccused in terror funding case

बिलासपुर। टेरर फंडिंग केस में हाईकोर्ट ने आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी है। जानकारी के मुताबिक 2017 में सिविल लाइन पुलिस ने टेरर फंडिंग के मामले का भंडाफोड़ किया था। दरअसल सिविल लाइन पुलिस को अप्रैल 2017 में गोपनीय सूचना मिली थी कि जम्मू कश्मीर में आतंकियों व पत्थरबाजों को छत्तीसगढ़ से आर्थिक सहायता दी जा रही है।साथ ही यह भी सूचना मिली थी कि कश्मीर के ATM से पैसे निकाले गए थे।

इस दौरान कई खातों का भी खुलासा किया था। जिसके बाद पुलिस ने शहर के एक निजी अस्पताल में काम करने वाले जांजगीर-चांपा के धर्मेन्द्र यादव, अवधेश दुबे, मनिन्द्र यादव, संजय देवांगन को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में यह जानकारी मिली कि संजय देवांगन का पाकिस्तान से तार जुड़ा है। हाईकोर्ट में जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा के डिवीजन बेंच ने मामले की सुनवाई की और आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी।

Share it
Top