logo
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार: राहुल के साथ बघेल करेंगे पटना में रैली, ये रहा पूरा प्लान

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलेंगे। इससे पहले कुर्मी सम्मेलन में नीतीश कुमार बतौर मुख्यमंत्री रायपुर आए थे तो भूपेश बघेल ने उनकी तीमारदारी में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी थी। तब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में बघेल सूबाई भाजपा सरकार से टकरा रहे थे और बिहार में नीतीश कुमार भाजपा के साथ मिलकर सरकार चला रहे थे। अब भूपेश बघेल मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार पटना पहुंच रहे हैं।

छत्तीसगढ़ समाचार: राहुल के साथ बघेल करेंगे पटना में रैली, ये रहा पूरा प्लान
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलेंगे। इससे पहले कुर्मी सम्मेलन में नीतीश कुमार बतौर मुख्यमंत्री रायपुर आए थे तो भूपेश बघेल ने उनकी तीमारदारी में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी थी। तब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में बघेल सूबाई भाजपा सरकार से टकरा रहे थे और बिहार में नीतीश कुमार भाजपा के साथ मिलकर सरकार चला रहे थे। अब भूपेश बघेल मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार पटना पहुंच रहे हैं।
रविवार को आयोजित विपक्षी एकता रैली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ वे दिल्ली से पटना रवाना होंगे। राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्षी एकता की बड़ी पटकथा पटना के गांधी मैदान से लिखी जानी है। राजद नेता तेजस्वी यादव ने पहले ही राहुल गांधी को अगले चुनाव के बाद प्रधानमंत्री पद के लिये उपयुक्त चेहरा माना है।
विपक्षी गोलबंदी में भूपेश बघेल को कांग्रेस पार्टी बड़े कुर्मी नेता के रूप में देशभर में प्रोजेक्ट करने की रणनीति बना रही है, खासकर उप्र और बिहार के चुनावों में भूपेश बघेल के जादुई नेतृत्व का आलाकमान जमकर फायदा उठाना चाहता है। कुर्मी-कोइरी बिरादरी के नेता के रूप में बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा के पाले में हैं तो विपक्ष की ओर से स्थानीय जातीय नेतृत्व के अलावा राष्ट्रीय कुर्मी नेता के रूप भूपेश बघेल की महती भूमिका होगी। विपक्षी रैली के बाद बघेल की औपचारिक मुलाकात नीतीश कुमार से भी होनी है।

बाराबंकी में भी रहेंगे सीएम

उधर, राज्य से बाहर बाराबंकी में पहली बार किसी सियासी कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। बाराबंकी लोकसभा संसदीय क्षेत्र से सूबे के प्रभारी पीएल पुनिया चुनाव लड़ते रहे हैं। अभी वे राज्यसभा में हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में उम्मीद है कि उनके बेटे तनुज पुनिया को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी टिकट देंगे।
हालांकि इससे पहले बाराबंकी क्षेत्र में आने वाले जैदपुर विधानसभा सीट से उनके बेटे को कांग्रेस पार्टी से टिकट मिलने पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अपने प्रत्याशी हटा लिये थे। उसके बाद भी तनुज को जीत नहीं मिल सकी थी। इस बार कांग्रेस अपने दम पर समूचे उप्र में चुनाव लड़ रही है।
छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत का सेहरा प्रभारी पीएल पुनिया के परिश्रम के माथे भी शीर्ष नेतृत्व ने बांधा था। बाराबंकी में कुर्मी वोटरों को रिझाने और अपनी ताकत दिखाने पीएल पुनिया ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का कार्यक्रम अपने संसदीय क्षेत्र में रखा है। शनिवार को राजकीय विमान से दोपहर दिल्ली पहुंचने के बाद शाम को मुख्यमंत्री पीएल पुनिया के साथ बाराबंकी के लिये रवाना होंगे।
Share it
Top