logo
Breaking

लोगों के आकर्षण का केंद्र बना पत्नी प्रताड़ित पुरूष स्टॉल अब तक 500 लोगों ने ली सलाह

इन दिनों राष्ट्रीय व्यापार मेला का आयोजन हो रहा है। व्यापार मेला में लगे स्टॉल जहां लोगों को अपनी ओर खिच रहा है तो वहीं दूसरी ओर यहां लगे पत्नी प्रताड़ित पुरूष स्टॉल लोगों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है

लोगों के आकर्षण का केंद्र बना पत्नी प्रताड़ित पुरूष स्टॉल अब तक 500 लोगों ने ली सलाह

संदीप करिहार, बिलासपुर: इन दिनों राष्ट्रीय व्यापार मेला का आयोजन हो रहा है। व्यापार मेला में लगे स्टॉल जहां लोगों को अपनी ओर खिच रहा है तो वहीं दूसरी ओर यहां लगे पत्नी प्रताड़ित पुरूष स्टॉल लोगों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। यहां मौजूद लोग पत्नी से पीड़ित लोगों को सलाह दे रहे हैं, वहीं गौर करने वाली बात है कि अब तक पांच से अधिक लोगों ने यहां पहुंचकर परामर्श लिया है।

बिलासपुर राष्ट्रीय व्यापार मेला में सभी स्टॉल अपनी विविधता और जरूरतों को लेकर मेला पहुंचने वालों को खासा प्रभावित कर रहे हैं। लेकिन पहली बार एक ऐसा स्टाल भी देखने को मिल रहा है जहां पहुंचने वाले ऐसे लोग हैं जो अपनी पत्नी की प्रताड़ना से खासे परेशान हैं। स्टाल क्रमांक डी-15 में स्टाल संचालकों के माध्यम से स्टाल तक पहुंचने वाल पत्नी पीड़ित पुरूषों को प्रताड़ना से छुटकारा पाने निःशुल्क परामर्श और मदद दे रहे हैं। सेव इण्डियन फैमिली स्टाल संचालकों का दावा है कि पिछले तीन दिनों में पांच सौ से अधिक पत्नी प्रताड़ित पतियों के अलावा युवाओं को भी पत्नियों की प्रताड़ना से बचने और छुटकारा का परामर्श दिया गया है।
सेव इण्डियन फैमिली स्टाल संचालकों ने बताया कि स्टॉल में महिलावादी कानूनों के दुष्परिणामों के साथ पुरुषों की पीड़ा जाहिर करने वाले पोस्टर्स और प्रोजेक्टर के माध्यम से पत्नी से मिलने वाली प्रताड़ना के तौर तरीकों के बारे में बताया जा रहा है। स्टाल संचालकों के अनुसार व्यापार मेला स्थल में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को देश में *पुरुष आयोग* की स्थापना और महिलावादी कानूनों में सुधार के लिए ज्ञापन दिया है।
Share it
Top