Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र आज से, हंगामेदार होने के पूरे आसार, सात विधेयक पेश कर सकती है सरकार

छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र शुक्रवार से शुरू हो रहा है। सत्र के पहले दिन दंतेवाड़ा के दिवंगत विधायक भीमा मंडावी को श्रद्धांजलि दी जाएगी। इससे पहले कार्यमंत्रणा समिति की बैठक होगी, जिसमें सदन के अन्य विषयों पर चर्चा होगी।

सदन में गूंजा गांधीजी अमर रहे, नारे में भाजपा ने दिया साथ, अचानक गोडसे मुर्दाबाद के नारे लगने पर हुए खामोश Gandhiji remained immortal in the assembly, BJP supported the slogan

छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र शुक्रवार से शुरू हो रहा है। सत्र के पहले दिन दंतेवाड़ा के दिवंगत विधायक भीमा मंडावी को श्रद्धांजलि दी जाएगी। इससे पहले कार्यमंत्रणा समिति की बैठक होगी, जिसमें सदन के अन्य विषयों पर चर्चा होगी। पांचवीं विधानसभा के यह दूसरा सत्र 19 जुलाई तक चलेगा और इसमें छह बैठकें होंगी। छोटी अवधि होने के बावजूद कई अहम मुद्दों के साथ सत्र के हंगामेदार होने के पूरे आसार हैं।

भीमा मंडावी की हत्या, शराबंदी, किसान कर्ज माफी, बिजली कटौती और कानून व्यवस्था जैसे मामलों को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में है। वहीं सरकार की ओर से अनुपूरक बजट भी इसी सत्र में लाए जाने की संभावना है। सत्र के दौरान सरकार सात अहम विधेयक भी पेश कर सकती है।

सत्र के पहले दिन प्रश्नकाल में पहला सवाल खाद्य विभाग से जुड़ा होगा, जिसे विधायक लाखेश्वर बघेल रखेंगे। जिसका सदन में पहली बार मंत्री के रूप में अमरजीत भगत सवालों का जवाब देंगे। मंत्री मोहम्मद अकबर के स्थान पर खाद्य विभाग की जिम्मेदारी भगत को दी गई है। ऐसे में मंत्री के रूप में सदन में पहली उपस्थिति में ही भगत का सामना सवालों से होगा।

पांच दिन चलने वाले मानसून सत्र के लिए अब तक 946 सवाल लगाए जा चुके हैं। जिसमें 60 फीसदी सवाल कांग्रेस विधायकों ने लगाए हैं। विधानसभा में 68 विधायक कांग्रेस के हैं। ऐसे में सत्ता पक्ष को सबसे ज्यादा कांग्रेस विधायकों के सवालों का सामना करना पड़ रहा है।

Next Story
Share it
Top