logo
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार : बीजेपी का गढ़ रहा है बस्तर, क्या इस बार जीत का छक्का लगा पाएगी कांग्रेस

: छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव का शंखनाद हो गया है। प्रदेश में तीन चरणों में लोकसभा चुनाव संपन्न किया जाएगा। पहले चरण में 11 अप्रैल को बस्तर सीट के लिए वोट पड़ेंगे। दूसरे चरण में 18 अप्रैल को राजनांदगांव, महासमुंद व राजनांदगांव, जबकि अंतिम चरण में 23 अप्रैल को 7 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा।

छत्तीसगढ़ समाचार : बीजेपी का गढ़ रहा है बस्तर, क्या इस बार जीत का छक्का लगा पाएगी कांग्रेस

बस्तर : छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव का शंखनाद हो गया है। प्रदेश में तीन चरणों में लोकसभा चुनाव संपन्न किया जाएगा। पहले चरण में 11 अप्रैल को बस्तर सीट के लिए वोट पड़ेंगे। दूसरे चरण में 18 अप्रैल को राजनांदगांव, महासमुंद व राजनांदगांव, जबकि अंतिम चरण में 23 अप्रैल को 7 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुब्रत साहू ने बताया कि प्रथम चरण में बस्तर लोकसभा सीट पर चुनाव होगा। इसके लिए नामांकन प्रक्रिया 18 मार्च को शुरू होगी। 25 मार्च तक नामांकन जमा किए जाएंगे और २६ मार्च को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 28 मार्च तक अभ्यर्थी नाम वापस ले सकते हैं। मतदान 11 अप्रैल को होगा।

बीजेपी का गढ़ - अगर हम बस्तर लोकसभा चुनाव की बात करें तो यह बीजेपी का गढ़ माना जाता है। बीजेपी 1998 से 2014 तक लगातार पिछले 6 चुनाव जीतते आ रही है।1998 से लेकर 2011 तक बीजेपी के बलिराम कश्यप ने यहां से लगातार 4 बार जीत दर्ज की। लेकिन 2011 में उनकी असामयिक मृत्यु के चलते उपचुनावों करवाए गए। जिसमें उनके बेटे दिनेश कश्यप ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद 2014 के चुनाव में भी दिनेश कश्यप ने जीत हासिल की।

बस्तर लोकसभा - बस्तर की सीट पर अब तक बीजेपी ने 6 बार और कांग्रेस ने पांच बार जीत हासिल किया है। बीजेपी 1998 के बाद से यहां हारी नहीं है। कांग्रेस की तरफ से आखिरी बार 1991 में मानकूराम सोढ़ी ने जीत दर्ज की थी। तब से लेकर अब तक पार्टी को इस सीट पर जीत की तलाश है। अगर इस बार कांग्रेस यहां जीतती है तो उसकी यह 6वीं जीत होगी। इस सीट पर एक बार जनता पार्टी के उम्मीद्वार को जीत मिली है। 1977 के चुनाव में भी जनता पार्टी के प्रत्याशी डीपी शाह को बस्तरियों ने सांसद बनाया था। इसके साथ ही इस सीट पर चार बार निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी जीत हासिल की है।

कांग्रेस का हौसला बुलंद - हालांकि इस सीट पर बीजेपी लगातार 6 बार से जीतते आ रही है लेकिन विधानसभा में बंपर सफलता हासिल करने के बाद कांग्रेस का मनोबल हाई है। इस बार के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बस्तर संभाग की कुल 12 सीटों में से 11 पर जीत मिली थी।

बस्तर में इस बार 13 लाख 72 हजार 136 मतदाता वोट करेंगे। इसमें 5 लाख 59 हजार 826 पुरूष और 7 लाख 12 हजार 266 महिला मतदाता शामिल हैं। इसके अलावा 44 तृतीय लिंग के मतदाता भी वोट देंगे। बस्तर लोकसभा सीट में होने वाले चुनाव के लिए करीब 1780 पाेलिंग बूथ बनाए गए हैं।

Share it
Top