Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मंत्री सिंहदेव के सामने जब आपस में ही उलझ गए अधिकारी, आयुक्त बोले- सर ये सर्जरी नहीं करते, विभागाध्यक्ष ने दिया जवाब- आप मशीन नहीं देते

स्वास्थ्य मंत्री बनने के बाद पहली अपने विजिट पर अंबेडकर अस्पताल पहुंचे मंत्री टीएस सिंहदेव के सामने स्वास्थ्य आयुक्त आर. प्रसन्ना और एडवांस कॉर्डियक इंस्टिट्यूट (एसीआइ) में कॉर्डियोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. स्मित श्रीवास्तव आपस में उलझ गए।

मंत्री सिंहदेव के सामने जब आपस में ही उलझ गए अधिकारी, आयुक्त बोले- सर ये सर्जरी नहीं करते, विभागाध्यक्ष ने दिया जवाब- आप मशीन नहीं देते
रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री बनने के बाद पहली अपने विजिट पर अंबेडकर अस्पताल पहुंचे मंत्री टीएस सिंहदेव के सामने स्वास्थ्य आयुक्त आर. प्रसन्ना और एडवांस कॉर्डियक इंस्टिट्यूट (एसीआइ) में कॉर्डियोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. स्मित श्रीवास्तव आपस में उलझ गए।
दरअसल, हुआ यूं कि श्री सिंहदेव ने कॉर्डियोलॉजी विभागाध्यक्ष से संसाधनों की जानकारी मांगी तो कॉर्डियोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. स्मित ने कहा, सर एसीआ को हार्ट लंग्स मशीन की सख्त जरूरत है। जिसके बिना मरीज की ओपन हार्ट सर्जरी नहीं हो पा रही है। इतने में आयुक्त प्रसन्ना ने डॉ. स्मित को बीच में ही टोकटे हुए बोले, सर ये सर्जरी ही नहीं करते हैं।
फिर क्या था नाराज डॉ. स्मित ने कहा चुप रहने वाले थे उन्होंने श्री सिंहदेव के समक्ष बेबाकी से अपनी बात रखते हुए बोले सर, मशीन के लिए पांच टेंडर हो चुके हैं, लेकिन अभी तक मशीन खरीदी नहीं हुई। जहां तक सवाल सर्जरी का है तो हमारे साथी डॉक्टर घर से उपकरण लाकर इलाज करते हैं। 1400 से ज्यादा हार्ट की प्रोसिजर हो चुकी है। कई हार्ट सर्जरी की गई है।
डॉ. श्रीवास्तव ने मंत्री सिंहदेव को जानकारी देते हुए बताया कि पहले 40 केस ही हो रहे थे, पिछले साल 2018 में हार्ट की 1600 प्रोसिजर की गई। इस दौरान सभी डॉक्टर्स, डॉ. श्रीवास्तव और डॉ. साहू का रौद्र रूप देखते रह गए। ये पहली बार हुआ होगा कि डॉक्टर्स ने किसी आइएएस के विरुद्ध इतनी निडरता से अपनी बात रखी हो, वो भी तब जब आइएएस विभाग का आयुक्त हो।
अफसर नहीं मंत्री सिंहदेव को नहीं ले गए एसीआइ
अंबेडकर अस्पताल विजिट पर गए श्री सिंहदेव ने लगभग सभी विभागों, वार्डों का दौरा किया। इस दौरान एसीआइ के डॉक्टर्स ने विभागीय अफसरों से कहा कि मंत्री जी को एसीआइ भी ले चलते, लेकिन कोई राजी नहीं हुआ। डॉक्टर्स इसलिए मंत्री जी को एसीआइ ले जाना चाहते थे कि जो फीडबैक अफसरों ने मंत्रियों को दिया है, उसे गलत साबित किया जा सके।
प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदवे गुरुवार को पहली बार राज्य के सबसे बड़े सरकारी अंबेडर अस्पताल विजिट के लिए पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों अधिकारियों के साथ स्टाफ, मरीज और उनके परिजनों से बात कर अस्ताल की व्यवस्था का हाल जाना। श्री सिंहदेव ने अस्पताल में मरीजों के लिए मौजूद संसाधनों के बारे भी जानकारी ली। वहीं स्वास्थ्य मंत्री ने माना कि अभी भी व्यवस्था में काफी सुधार की जरूरत है।
Next Story
Share it
Top