Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शासन की सख्ती से नरम हुई बीमा कंपनी, एक दिन में 21 करोड़ का भुगतान

आयुष्मान भारत योजना में किए गए उपचार की लंबित राशि के भुगतान के लिए शासन के सख्त रवैये के ​बाद रेलीगेयर इंश्योरेंस कंपनी ने एक ही दिन में लगभीग 21 करोड़ की लंबित राशि का भुगतान कर दिया है।

शासन की सख्ती से नरम हुई बीमा कंपनी, एक दिन में 21 करोड़ का भुगतान

रायपुर। आयुष्मान भारत योजना में किए गए उपचार की लंबित राशि के भुगतान के लिए शासन के सख्त रवैये के ​बाद रेलीगेयर इंश्योरेंस कंपनी ने एक ही दिन में लगभीग 21 करोड़ की लंबित राशि का भुगतान कर दिया है। वहीं बीमा कंपनी की ओर से सोमवार को 15 करोड़ की राशि भुगतान किए जाने का आश्वासन दिया गया है। शासन ने भुगतान नहीं किए जाने की शिकायत के बाद बीमा कंपनी को कार्रवाई की चेतावनी के साथ नोटिस जारी किया गया था।

आयुष्मान भारत योजना के साथ स्वास्थ्य बीमा योजना में मरीजों का उपचार किए जाने के बाद भी बीमा कंपनी से भुगतान की राशि नहं मिलने की शिकायत अस्पताल संचालकों ने काफी समय से लगातार की थी।

हाल ही में यह तथ्य सामने आया था कि शासकीय के साथ निजी अस्पतालों को 20 जून के बाद राशि का भुगतान नहीं किया गया है। इसके बाद शासन के निर्देश पर स्वास्थ्य संचालक ने बीमा कंपनी को नोटिस जारी किया था और भुगतान नहीं होने पर तीन दिन के भीतर उन्हें ब्लैक लिस्ट कर इस योजना के टेंडर में शामिल नहीं किए जाने के लिए एनएचए की अनुशंसा किए जाने का जिक्र भी किया था।

शासन के इस सख्त रवैये बाद बीमा कंपनी की आरे से शनिवार को चिकित्सकों को भुगतान किया गया है। चिकित्सकों को इस मैसेज के माध्यम से इसकी जानकारी भी दी गई है। शनिवार होने की वजह से यह राशि अस्पतालों के खाते में सोमवार को ट्रांसफर हो जाएगी। इसके साथ यह भी जिक्र किया गया है कि सोमवार को 15 करोड़ का और भुगतान कर दिया जाएगा।

50 फीसदी अस्पतालों को मिली राहत

सूत्रों के मुताबिक प्रदेश के निजी और शासकीय अस्पताल में भुगतान के लिए जो राशि रिलीज की गई है, उसे लंबित राशि के हिसाब से काफी कम माना जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि इस भुगतान का लाभ 50 प्रतिशत अस्पतालों को ही मिल पाएगा। जबकि बाकी 50 फीसदी अस्पतालों को अभी और इंजतार करना पड़ सकता है।

61 करोड़ का भुगतान

शासन ने स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बीमा कंपनी रेलीगेयर इंश्योरेंस कंपनी को प्रीमियम की राशि के रूप में पिछले दिनों 61 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था। इस राशि के आधार पर ही कंपनी द्वारा अस्पतालों को राशि का भुगतान किया गया है। इस लंबित भुगतान से कुछ अस्पतालों को थोड़ी राहत जरूर मिली है।

Share it
Top