logo
Breaking

हॉफ मैराथन के लिए कराया 31 हजार धावकों ने पंजीयन, तीन दिनों में बंटे 11 हजार जर्सी नंबर और टी-शर्ट

रायपुर हॉफ मैराथन के लिए इस बार रिकार्ड 31 हजार धावकों ने अपना पंजीयन कराया है। विभिन्न वर्गों के धावकों को टी-शर्ट के साथ जर्सी नंबर देने का काम खेल एवं युवा विभाग ने 20 फरवरी से प्रारंभ किया है। तीन दिनों में 11 हजार धावकों को ही टी-शर्ट और जर्सी नंबरों का वितरण हो पाया है।

हॉफ मैराथन के लिए कराया 31 हजार धावकों ने पंजीयन, तीन दिनों में बंटे 11 हजार जर्सी नंबर और टी-शर्ट
रायपुर। रायपुर हॉफ मैराथन के लिए इस बार रिकार्ड 31 हजार धावकों ने अपना पंजीयन कराया है। विभिन्न वर्गों के धावकों को टी-शर्ट के साथ जर्सी नंबर देने का काम खेल एवं युवा विभाग ने 20 फरवरी से प्रारंभ किया है। तीन दिनों में 11 हजार धावकों को ही टी-शर्ट और जर्सी नंबरों का वितरण हो पाया है।
शनिवार को इसके वितरण का अंतिम दिन है। एक ही दिन में 20 हजार धावकों को टी-शर्ट के साथ जर्सी नंबर बांटने की चुनौती रहेगी। इसके लिए खेल विभाग ने पूरी व्यवस्था करते हुए 15 काउंटर बनाए हैं।
प्रदेश के खेल विभाग ने लगातार तीसरे साल रायपुर हॉफ मैराथन का आयोजन किया है। 24 फरवरी को नया रायपुर में दौड़ का आयोजन होगा। इसके लिए 15 फरवरी तक आनलाइन आवेदन मंगाए गए तो 31 हजार ने पंजीयन कराया है। इसमें से करीब 29 हजार प्रदेश के और दो हजार दूसरे राज्यों के धावक हैं। इसी के साथ आधा दर्जन से ज्यादा विदेशी धावक भी शामिल हाेंगे।
आज उमड़ेगी भारी भीड़
टी-शर्ट और जर्सी नंबर लेने के लिए धावकों की शनिवार को भारी भीड़ उमड़ेगी। खेल विभाग ने 20 फरवरी से टी-शर्ट और जर्सी नंबरों का वितरण प्रारंभ किया तो पहले दिन दो हजार धावक आए। इसी तरह से दूसरे दिन चार हजार और तीसरे दिन पांच हजार धावकों ने अपने जर्सी नंबर और टी-शर्ट लिए हैं।
अब अंतिम दिन सबसे ज्यादा धावक आएंगे। धावकों को ज्यादा लंबी लाइन न लगानी पड़े और उसको परेशानी न हो इस बात को ध्यान में रखते हुए खेल विभाग ने अलग-अलग नंबरों के लिए अलग-अलग काउंटर बनाए हैं। कुल मिलाकर 15 काउंटर बनाए गए हैं। सबसे ज्यादा संख्या 21 किलो मीटर ओपन वर्ग में है।
Share it
Top