logo
Breaking

शिक्षा विभाग के उपसंचालक और सहयोगी लेखापाल को हुई 3 साल सश्रम कारावास की सजा

मंत्रालय में पदस्थ शिक्षा विभाग के उपसंचालक व तत्कालीन मुंगेली जिला शिक्षा अधिकारी एनके द्विवेदी और लेखापाल व्हीके सूर्यवंशी को भ्रष्टाचार के मामले में विशेष न्यायालय ने तीन 3 वर्ष के सश्रम कारावास एवं अर्थदंड की सजा सुनाई है।

शिक्षा विभाग के उपसंचालक और सहयोगी लेखापाल को हुई 3 साल सश्रम कारावास की सजा

सैय्यद वाजिद, मुंगेली: मंत्रालय में पदस्थ शिक्षा विभाग के उपसंचालक व तत्कालीन मुंगेली जिला शिक्षा अधिकारी एनके द्विवेदी और लेखापाल व्हीके सूर्यवंशी को भ्रष्टाचार के मामले में विशेष न्यायालय ने तीन 3 वर्ष के सश्रम कारावास एवं अर्थदंड की सजा सुनाई है। वहीं, मामले में तीन अन्य आरोपी के खिलाफ भी दोष सिद्ध किया गया है।

No photo description available.

गौरतलब है कि वर्ष 2012-13 में मुंगेली जिले में अनुकंपा नियुक्तियों में गड़बड़ी एवं भ्रष्टाचार होने की शिकायत हुई थी। जिस पर मुंगेली जिले के तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी एनके द्विवेदी और लेखपाल व्हीके सूर्यवंशी के विरुद्ध एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा मामला पंजीबद्ध कर विवेचना की गई। इस पूरे मामले में वर्ष 2014 में विशेष न्यायालय के समक्ष चालान पेश होने के बाद विचारण प्रारंभ किया गया। जिसमें अभियोजन ने 13 साक्षियों का न्यायालय के समक्ष परीक्षण कराकर मामला संदेश से परे प्रमाणित किया गया। इसके बाद भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत विशेष न्यायाधीश नीलिमा सिंह बघेल ने सुनवाई करते हुए दोनों को 3-3 वर्ष का कारावास व अर्थदंड की सजा सुनाई। इस प्रकरण में विशेष लोक अभियोजक देवेंद्र पांडेय ने शासन की ओर से पैरवी की गई।
Share it
Top