Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सदन में गुंजी स्काई योजना, CM भूपेश बोले- करोड़ों के इस घोटाले में प्रदेश के पैसों का हुआ बंदरबांट, CAG से कराई जाएगी जांच

दो दिन छुट्टी के बाद आज छत्तीसगढ़ विधानसभा का 12वें दिन के सत्र में पक्ष विपक्ष के बीच नोकझोंक के साथ शुरू हुआ। प्रश्नकाल के दौरान विधायक डॉ. लक्ष्मी धरु ने स्काई योजना के पर सवाल उठाया कि, मुख्यमंत्री स्काई योजना के द्वारा मोबाइल किस दर पर क्रय किया गया है उसे बांटा गया है।

सदन में गुंजी स्काई योजना, CM भूपेश बोले-  करोड़ों के इस घोटाले में प्रदेश के पैसों का हुआ बंदरबांट, CAG से कराई जाएगी जांच
रायपुर। दो दिन छुट्टी के बाद आज छत्तीसगढ़ विधानसभा का 12वें दिन के सत्र में पक्ष विपक्ष के बीच नोकझोंक के साथ शुरू हुआ। प्रश्नकाल के दौरान विधायक डॉ. लक्ष्मी धरु ने स्काई योजना के पर सवाल उठाया कि, मुख्यमंत्री स्काई योजना के द्वारा मोबाइल किस दर पर क्रय किया गया है उसे बांटा गया है।
इस पर जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जब विस्तार पूर्वक जवाब देना शुरू किया तो विपक्ष में बैठे अजय चंद्राकर और धरमलाल कौशिक और अजीत जोगी के बीच आपस जमकर तिंछा कछी शुरू हो गई।

स्काई योजना का उद्देश्य ऑनलाइन है। नवीन टॉवर के लिए 610 करोड़ की राशि उपलब्ध की गई। जिसे चिप्स को दिया गया। जिसे 15 02 18 को कैबिनेट की बैठक में निरस्त किया गया। इसमें करोड़ों रुपए का घोटाला किया गया है। प्रदेश के पैसे का बंटरबाट किया गया। योजना के लागू होने से लेकर अब तक की विस्तार से जांच कराई जाएगी। बचे हुए 9 लाख 20 हजार 518 मोबाइल को बॉटने की हमारी कोई योजना नहीं है। कंपनी से बात करके हम बचे हुए मोबाइल वापस करने की प्रक्रिया जल्द शुरू करेंगे।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सदन में जानकारी देते हुए बताया 25 लाख 14 हजार 845 मोबाइल वितरित किया गया है। 9 लाख 20 हजार 518 बचे है मोबाइल वितरण के लिए कोई कनेक्टिविटी नहीं थी। पूरे मामले की cag से इसकी जांच कराई जाएगी।
मोबाइल में एप देने का निर्णय भी लिया गया था। इसके लिए समीति भी बनाई गई। लेकिन बहुत दुर्भाग्य के साथ कहना पड़ रहा है इसमें प्रधानमंत्री मोदी जी के निजी एप नमो और तत्कालीन रमन सरकार के निजी एप रमन को भी इसमें डाला गया। मतलब पार्टी के प्रचार के लिए इसमें निजी एप डाला गया।
Next Story
Share it
Top