Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार: हवाई सेवा का पता नहीं और 32 पुलिसकर्मी कर रहे ड्यूटी, अधिकारियों के दफ्तर में भी अटैच होकर आराम फरमा रहे

चकरभाठा एयरपोट से अब तकि हवाई जहाज तो नहीं उड़ सका है, लेकिन यहां 32 पुलिसकर्मियों को तैना कर दिया गया है। ये पुलिसकर्मी बिना किसी काम के हवाई अड्डे में मक्खी मार रहे हैं।

छत्तीसगढ़ समाचार:  हवाई सेवा का पता नहीं और 32 पुलिसकर्मी कर रहे ड्यूटी, अधिकारियों के दफ्तर में भी अटैच होकर आराम फरमा रहे
बिलासपुर। चकरभाठा एयरपोट से अब तकि हवाई जहाज तो नहीं उड़ सका है, लेकिन यहां 32 पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है। ये पुलिसकर्मी बिना किसी काम के हवाई अड्डे में मक्खी मार रहे हैं।
इसी तरह दो दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी अफसरों के दफ्तरों में अटैच हैं। इसक चलते पुलिस थानों में बल की कमी नहीं हुई है और अपराध पर लगाम नहीं कसी जा रही है।
जवानों को लाया जाएगा थाने
दूसरे जिले से जमें जयादातर पुलिस कर्मियों को रिलीव कर दिया गया है। नक्सल क्षेत्र में शहीद हुए परिवार के परिजन पारिवारिक कारणों से यहां आए हुए थे। उन्होंने अटैचमेंट बढ़ाने के लिए डीजीपी से आवेदन करने की जानकारी दी है। जिससे उन्हें रिलीव नहीं किया गया। दफ्तरों में जमे पुलिस कर्मियों को धीरे धीरे रिलीव किया जा रहा है। एयरपोर्ट के सुरक्षा बल के लिए पत्र लिखा गया है। बल के आने पर उन्हें ट्रेनिंग देने पश्चात ड्यूटी में तैनात जिला बल के जवानों को थाने में लाया जाएगा।
-अभिषेक मीणा, एसपी

अफसरों के दफ्तर में भी हैं अटैच
थानों के काम व रात्रि गश्त से बचने के लिए दो दर्जन से अधिक पुलिस कर्मियों ने आईजी, एसपी, एएसपी, सीएसपी दफ्तर में अटैचमेंट करा लिया है। दफ्तर में उक्त पुलिस कर्मियों को अन्य सरकारी दफ्तरों की तरह सुबह 10.30 से शाम 5 बजे तक काम करना पड़ता है। उसके बाद आराम रहता है। दफ्तरों में अटैच होने के कारण इन्हें सरकारी छुट्टी का भी लाभ मिल जाता है।
वहीं पुलिस कर्मियों के अटैच होने से कार्यालय के बाबू आराम फरमाते रहते हैं। वे अटैची पुलिस कर्मियों से सारा काम करवाते रहते हैं। पूर्व आईजी दिपांशु काबरा ने अटैच पुलिस कर्मियों को हटवा दिया था। उनके तबादले के बाद फिर कार्यालय में पुलिस कर्मियों का जमावड़ा हो गया है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने विगत 7 जनवरी को कार्यालयों में अटैच पुलिस कर्मियों को हटाने का आदेश दिया है। उसके बाद भी पुलिस कर्मी जमे हुए हैं।

दूसरे जिले के अटैच पुलिस कर्मी रिलीव नहीं
नई सरकार व नए डीजीपी डीएम अवस्थी ने पदभार ग्रहण करने ही प्रदेश के सभी जिलों में दूसरे जिलों से आए पुलिस कर्मियों का अटैचमेंट समाप्त कर मूल स्थान के लिए तत्काल रिलीव करने का आदेश दिया था। जिले में भी तीन एसआई सहित करीब 30 से 40 पुलिस कर्मियों को अब तक मूलस्थान के लिए रिलीव नहीं
सही तरीके से रात्रि गश्त भी नहीं हो पा रही
चकरभाठा एयरपोर्ट से हवाई जहाज की उड़ान अब दिल्ली दूर है, किन्तु वहां कि सुरक्षा के लिए पिछले चार माह से एक एएसआई सहित करीब 32 पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगा दी गई है, जो दो शिफ्ट में 24 घंटे तैनात रहते हैं। कोई काम नहीं होने के कारण ये पुलिसकर्मी मोबाइल में चैटिंग कर और ताश खेलकर टाइम पास करते रहते हैं। मजेदार बात यह है कि चार माह बाद भी पुलिस कर्मियों की ड्यूटी में कोई बदलाव नहीं हुआ।
Next Story
Share it
Top