Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के खनिज विभाग का दिल्ली में हुआ सम्मान, खनिज ऑनलाइन पोर्टल को मिला ई-गवर्नेंस का राष्ट्रीय पुरस्कार

छत्तीसगढ़ के खनिज विभाग का दिल्ली में सम्मान हुआ है। खनिज विभाग के ऑनलाइन पोर्टल को ई-गवर्नेंस का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। खनिजों के आक्सन एवं यूटिलाइजेशन के लिए बनाए गए अनूठे पोर्टल को बनाने में तत्कालीन माईनिंग सिकरेट्री सुबोध सिंह की भूमिका अहम रही थी।

छत्तीसगढ़ के खनिज विभाग का दिल्ली में हुआ सम्मान, खनिज ऑनलाइन पोर्टल को मिला ई-गवर्नेंस का राष्ट्रीय पुरस्कार
X

रायपुर. छत्तीसगढ़ के खनिज विभाग का दिल्ली में सम्मान हुआ है। खनिज विभाग के ऑनलाइन पोर्टल को ई-गवर्नेंस का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। खनिजों के आक्सन एवं यूटिलाइजेशन के लिए बनाए गए अनूठे पोर्टल को बनाने में तत्कालीन माईनिंग सिकरेट्री सुबोध सिंह की भूमिका अहम रही थी। इस पोर्टल से माइनिंग कार्य इतना सुविधाजनक हो गया था कि सिर्फ सरकार और सरकारी कंपनियां ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ में माईनिंग से जुड़े काम करने वाली प्रायवेट कंपनियों ने भी इसे एडाप्ट कर लिया था।

भारत सरकार कार्मिक लोक शिकायत तथा पेंशन मंत्रालय की तरफ से खनिज विभाग के तत्कालीन सचिव सुबोध कुमार सिंह, तत्कालीन संचालक अलरमेलमंगई डी, तत्कालीन सीईओ चिप्स एलेक्स पाॅल मेनन एवं प्रोजेक्ट नोडल आफिसर अनुराग दीवान तथा डिप्टी डायरेक्टर डाॅ संजय खरे को अवार्ड दिया गया। इस पोर्टल की विशेषता आक्शन को सहज और पारदर्शी बनाना था। देश दुनिया में इसकी खूब चर्चा भी हुई थी। ना सिर्फ इससे आक्शन में सहुलियतें सामने आयी, बल्कि उससे रॉयल्टी में बेहतर मिली वहीं पारदर्शिता भी बनी रही।

No photo description available.

खनिज ऑनलाईन का उक्त अवार्ड हेतु चयन, देश के विभिन्न राज्यों, विभागों से प्राप्त 160 से अधिक नामांकनों के स्थल निरीक्षण एवं प्रस्तुतीकरण उपरान्त भारत सरकार, कर्मिक, लोक शिकायत तथा पेंशन मंत्रालय द्वारा किया गया। खनिज ऑनलाईन पोर्टल का विकास मेसर्स एमनेक्स इंफोटेक्नोलाॅजीस प्रायवेट लिमिेटेड द्वारा, नोडल एजेन्सी छत्तीसगढ इन्फोटेक प्रमोशन सोसायटी चिप्स के माध्यम से रू 8.08 करोड की अनुमानित लागत से किया गया है।

21 जून 2017 को शुभारंभ किये गये उक्त पोर्टल में खनन संक्रिय से संबद्ध स्टेकहोल्डर्स जैसे खान मालिकों, प्रोसेसिंग परिवहनकर्ताओं एवं अपयोगकर्ताओं एण्ड यूज आॅनर्स को कार्य में सुगमता की दृष्टि से विभिन्न प्रायोजनों हुतु ऑनलाईन आवेदन, सिंगल क्लिक पेमेंट, सिस्टम जनरेटेड बार-ट्रांजिट पास, एंड-टू-एंड ट्रैकिंग की व्यवस्था की गई हैं साथ ही प्रषासन को भी सूचना प्रौधौगिकी के माध्यम से खनिजों के उत्पादन, संप्रेषण एवं उपयोग पर प्रभावशाली नियंत्रण सहूलियत होगी।

खनिज ऑनलाईन की तीन विशिष्ट विशेषताएं- जैसेऑटो अप्रूव्हल आधारित खनिज निकासी , रायल्टी डीएमएफ एनएमईटी इत्यादि का सिंगल क्लिक पेमेंट, ऑटो जनरेटेड डिमांड के्रडिट नोट आधारित रियल टाईम एसेसमेंट पोर्टल के माध्यम से खनन संक्रिया प्रसस्करण परिवहन एंड-यूज आदि में संलग्न सभी स्टेकहोल्डर्स सिंगल प्लेटफार्म में कार्य करते है। इस पोर्टल की खासियत है कि इसमें ”ऑटो अप्रूवल” एवं ”रियल टाईम असेसमेंट” आधारित ”एण्ड टू एण्ड ट्रेकिंग” के जरिये एक ही स्थान से राॅयल्टी एवं टैक्स का ऑनलाईन भुगतान किया जा सकता है, वहीं खनिज परिवहन के लिए ई-ट्रांजिट पास जारी किया जा सकता है। इस पोर्टल के जरिये देश की नवरत्न कंपनी जैसे एनएमडीसी, एसईसीएल के साथ-साथ निजी क्षेत्र की बड़ी कंपनियाॅ बालको, हिण्डालको, अल्ट्राटेक, श्री सीमेंट, इमामी, जायसवाल निको, जेके लक्ष्मी, नुवोको, अम्बुजा ने भी पोर्टल को आजमाया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story