Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सब इंस्पेक्टर ने की महिला आरक्षक की हत्या, कार की डिक्की में रखकर घुमाता रहा लाश

पुलिस पूछताछ में आरोपी सबइस्पेक्टर दानेश्वर नापित ने बताया कि महिला आरक्षक आरती कुंजाम के साथ उसकी गहरी दोस्ती थी और यह दोस्ती पिछले कुछ सालो में अवैध संबध के रूप में परिणित हो गई थी।

सब इंस्पेक्टर ने की महिला आरक्षक की हत्या, कार की डिक्की में रखकर घुमाता रहा लाश

महिला आरक्षक आरती कुंजाम के हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने अतत: सुलझा ली है। अवैध संबध और ब्लैकमेलिंग के चलते चौकी थाने में पदस्थ सब इंस्पेक्टर दानेश्वर नापित ने महिला आरक्षक की निर्मम हत्या की थी।

महिला आरक्षक आरती कुंजाम की गला घोंटकर हत्या करने के बाद आरोपी सब इंस्पेक्टर उसके शव को अपनी कार की डिक्की में रखकर रातभर घुमता रहा और दूसरे दिन लाश को क्षत विक्षत करने के बाद उसे बगदई नदी में फेंक दिया था। पुलिस ने आरोपी सब इस्पेक्टर दानेश्वर नापित को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस पूछताछ में आरोपी सब इंस्पेक्टर दानेश्वर नापित ने बताया कि महिला आरक्षक आरती कुंजाम के साथ उसकी गहरी दोस्ती थी और यह दोस्ती पिछले कुछ सालो में अवैध संबध के रूप में परिणित हो गई थी।

पिछले 19 अगस्त को आरोपी नापित और महिला आरक्षक आरती कुंजाम का विवाद हो गया था। विवाद के दौरान आरती ने आरोपी सबइस्पेक्टर को यह धमकी दे दी थी कि वह दोनो के बीच निर्मित अवैध संबधो को सोशल मीडिया में वायरल कर देगी।

इसके अलावा वह एसडीओपी और थानेदार से भी शिकायत कर खुद फांसी लगा लेगी, आरोपी नापित ने बताया कि महिला आरक्षक आरती की धमकी के बाद वह घबरा गया और उसने 19 और 20 अगस्त की रात्रि आरती को समझाने की कोशिश की।

सब इंस्पेक्टर दानेश्वर नापित ने 20 अगस्त की रात 11 बजे महिला आरक्षक आरती को अपनी बाईक में बैठाकर कृषि कालेज परिसर ले गया और उसे समझाने की कोशिश की लेकिन महिला आरक्षक ने जब अपने फोन से नापित की पत्नी को मैसेज करने की कोशिश की तो गुस्साए दानेश्वर ने आरती का गला दबा दिया। जिससे उसकी मौत हाे गयी। आरोपी ने लाश को वही परिसर में छुपा दिया।

इसके बाद आरोपी सबइस्पेक्टर नापित अपनी मोटरसाईकिल से घर पहुंचा और वहां से वह अपनी कार लेकर फिर घटना स्थल पहुंचा। जहां लाश को अपनी डिक्की में छुपाकर रातभर घुमता रहा। इसी बीच मृतका के मोबाईल को उसने एक ट्रक में फेंक दिया।

21 अगस्त को आरती की लाश दिनभर डिक्की में ही रही। रात में मेरेगांव स्थित दुकान से कुल्हाड़ी लेकर आरोपी ने लाश को क्षत विक्षत्त किया और फिर उसे डोंगरगांव के बगदई नदी में फेंक दिया। पुलिस ने आरोपी सबइस्पेक्टर दानेश्वर नापित को गिरफ्तार कर लिया है।

Next Story
Share it
Top