logo
Breaking

छत्तीसगढ़ देश का इकलौता राज्य है, जिसने अधिग्रहित जमीन किसानों को वापस की- प्रवीण तोगड़िया

विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अंतर्रष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया बुधवार को छत्तीसगढ़ प्रवास पर रायपुर पहुंचे

छत्तीसगढ़ देश का इकलौता राज्य है, जिसने अधिग्रहित जमीन किसानों को वापस की- प्रवीण तोगड़िया
विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अंतर्रष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया बुधवार को छत्तीसगढ़ प्रवास पर रायपुर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने हिंदू बचाव अभियान के तहत एक विशाल जनसभा को संबोधित किए। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान छत्तीसगढ़ सरकार के कर्ज माफी के फैसले का स्वागत किया और धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपए दिए जाने पर सरकार को बधाई दी। वहीं, दूसरी ओर सूत्रों के हवाले खबर आ रही है कि तोगड़िया एक नई पार्टी का गठन कर रहे हैं और आगामी लोकसभा चुनाव में प्रदेश की सभी 11 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय किसान परिषद के नेतृत्व में भाजपा सरकार के समय जगदलपुर से रायपुर तक 300 किमी की पदयात्रा का नतीजा है। देश मे छत्तीसगढ़ सरकार पहली सरकार है जिसने टाटा को लोहंडीगुडा में किसानों की अधिग्रहित जमीन वापस देने का फैसला लिया। उसके लिये सरकार का आभार है। टाटा के 18 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट में किसान को सिर्फ 40 करोड़ दिए गए थे, भाजपा के शासन में किसानों से लूट थी।
गुजरात मे टाटा को नैनो कार का प्लांट लगाने जमीन और 20000 करोड़ आधे प्रतिशत में ब्याज पर भाजपा सरकार ने कर्ज दिया था। छत्तीसगढ़ कि तरह गुजरात मे भी नैनो के लिये अधिग्रहित जमीन वापस किसान को दी जानी चाहिए। किसानों कि जमीन उद्योगों के लिये अधिग्रहण के विरोध में 28 दिसंबर को मिर्जापुर से आंदोलन की शुरुआत की जाएगी। किसानों की गेंहू और धान का देश भर में 2500 रुपये समर्थन मूल्य लागू होना चाहिए।
मोदी सरकार उघोगपतियों की हितैशी
मोदी जैसे उद्योगपतियों की सरकार है कुछ उद्योग पतियों का 2 लाख 41 हजार करोड़ माफ किया गया बैंक को 4 लाख करोड़ दिए गए किसान के लिये पैसा नही है। सरकार वालमार्ट को अनुमति देकर छोटे व्यापारी को नुकसान कर रही है, लेकिन हम सरकार के इस मंसूबे को कामयाब नहीं होने देंगे।
Share it
Top