Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ : टॉयलेट के मग से पी रहे पानी, कोरोना से बच गये तो गंदगी से मर जायेंगे !

केवाछी में की गई है 55 से ज्यादा महिला पुरुष एवं बच्चों की शासकीय स्कूल में रुकने की व्यवस्था। पढ़िए पूरी खबर-

छत्तीसगढ़ : टॉयलेट के मग से पी रहे पानी, कोरोना से बच गये तो गंदगी से मर जायेंगे !
X
प्रतीकात्मक चित्र

बेमेतरा। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए क्वारेंटाइन किया जा रहा है लेकिन क्वारेंटाइन सेंटर्स की वीभत्स कर देने वाली ऐसी तस्वीरें सामने आ रही है जिससे ऐसा लग रहा है मानो क्वारेंटाइन हुए लोग कोरोना के संक्रमण से बच गए तो, यहां के गदंगी की संक्रमण की वजह से मर जाएंगे। ऐसा ही एक मामला सामने आया है ग्राम पंचायत केवाछी के शासकीय स्कूल के क्वारेेंटाइन सेंटर से, जहां विनोद वर्मा, भोज वर्मा सहित अन्य महिला एवं पुरुषों ने जिला पंचायत सदस्य प्रज्ञा निर्वाणी से शिकायत कर मदद की गुहार लगाई। धनंजय ध्रुव ने कहा कि शौचालय में जिस जग का उपयोग हो रहा है, उससे ही वो पीने के पानी के लिए उपयोग कर रहे हैं, उन्हें बाहर से ताला लगा कर बंद कर दिया जाता है। जिला पंचायत सदस्य प्रज्ञा निर्वाणी ने तुरंत एसडीएम वर्मा से फोन पर वस्तुस्थिति से अवगत कराके आवश्यक कार्यवाही करने हेतु कहा, केवाछी में 55 से ज्यादा महिला पुरुष एवं बच्चों की शासकीय स्कूल में रुकने की व्यवस्था की गई है। सरकारी आदेशों और नियमों के अनुसार महिला एवं पुरुषों के लिए पृथक टॉयलेट की व्यवस्था होना चाहिए, गढ्ढे युक्त अस्थाई शौचालय तैयार करने के निर्देश भी सरकार द्वारा दिये गये है।

निर्देशों का नहीं हो रहा पालन

लॉकडाउन में शर्तों के साथ ढील दिए जाने के बाद श्रमिकों का अपने-अपने गांवों में अन्य राज्यों से वापस आने का सिलसिला चालू हो चुका है, शासन के निर्देश के अनुसार उन्हें गांव के ही स्कूलों में अस्थाई रूप से क्वारेंटाइन सेंटर बनाकर रोका जा रहा है, सभी ग्राम पंचायतों को निर्देश जारी कर आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने शासन-प्रशासन ने दिशा निर्देश भी जारी कर दिए हैं। पर कुछ जगहों पर श्रमिक परिवारों को भारी परेशानी का सामाना करना पड़ रहा है।

जिला पंचायत सदस्य प्रज्ञा निर्वाणी ने उन्हें शीघ्र ही निराकरण का आश्वासन देते हुए संबंधित अधिकारियों से चर्चा की, उन्होंने कहा कि स्थानीय सरपंच से भी बात करने की कोशिश कर रही हैं पर फोन लगातार बन्द आ रहा था, उन्होंने पंचायत सचिव को सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विधायक गुरु दयाल सिंह बंजारे से सचिव को सेवा कार्य मे घोर लापरवाही बरतने पर बर्खास्त करने की सिफारिश करेंगी। धनंजय ध्रुव, हीरेन्द्र रजक,गजेंद्र साहू,कविता साहू, मालती वर्मा,राकेश वर्मा, भोज वर्मा, धनंजय ध्रुव, अमित ध्रुव सहित रुके हुए श्रमिकों ने प्रज्ञा निर्वाणी से बात की।

Next Story