logo
Breaking

सीबीआई कोर्ट ने फर्जी लोन मामले में बिल्डर, इंजीनियर और बैंक अधिकारियों को सुनाई...

सीबीआई की विशेष अदालत ने 15 वर्ष पुराने 17 करोड़ 14 लाख रुपए के लोन फायनेंस करने के मामले में चार आरोपियों को सात-सात वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई है।

सीबीआई कोर्ट ने फर्जी लोन मामले में बिल्डर, इंजीनियर और बैंक अधिकारियों को सुनाई...
सीबीआई की विशेष अदालत ने 15 वर्ष पुराने 17 करोड़ 14 लाख रुपए के लोन फायनेंस करने के मामले में चार आरोपियों को सात-सात वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। मामले में एक अभियुक्त की मौत हो गई है, जबकी एक अन्य आरोपी फरार है। जिन्हें सजा सुनाई गई है, उनमें एसबीआई के दो बैंक अधिकारी, बिल्डर, इंजीनियर और मार्केटिंग मैनेजर शामिल है। मामले की पैरवी सीबीआई के वरिष्ठ लोक अभियोजक बृजेश सिंह ने की।
लोक अभियोजक के मुताबिक पंकज कुमार जैन की कोर्ट ने एसबीआई बैंक रायपुर, फाफाडीह शाखा के तत्कालीन मुख्य प्रबंधक एसपी कालरा, तत्कालीन मैनेजर वीजे जीतेन्द्र राव के अलावा मे. चंदेला हाउसिंग प्रा. लिमिटेड के चेयरमेन संजय सिंह की पत्नी शारदा सिंह, लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर देवेन्द्र पहाड़ी को सजा सुनाई है। मामले के एक अन्य अभियुक्त संजय सिंह की मौत हो गई है। जबकी मामले के एक अन्य अभियुक्त बिल्डर के माकेर्टिंग मैनेजर बिलासराव फरार हैं।
Share it
Top