logo
Breaking

Chhattisgarh Budget 2019 : अनुदान मांग पर समय तय होने के बाद भी चर्चा से हटा सत्तापक्ष, डॉ रमन सिंह बोले- विधानसभा के इतिहास में यह पहली घटना

अनुदान मांग पर चर्चा के लिए समय तय होने के बाद भी सत्तापक्ष सदन में चर्चा से हट गया. इस पर अब सियासत गरमाती नजर आ रही है. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि सन-1990 से लेकर अब तक इस तरह पहली बार हुआ है.

Chhattisgarh Budget 2019 : अनुदान मांग पर समय तय होने के बाद भी चर्चा से हटा सत्तापक्ष, डॉ रमन सिंह बोले- विधानसभा के इतिहास में यह पहली घटना

रायपुर. अनुदान मांग पर चर्चा के लिए समय तय होने के बाद भी सत्तापक्ष सदन में चर्चा से हट गया. इस पर अब सियासत गरमाती नजर आ रही है. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि सन-1990 से लेकर अब तक इस तरह पहली बार हुआ है. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने आगे कहा कि सन 90 से विधानसभा में सदस्य हूं. विधानसभा के इतिहास में यह पहली घटना है. यह गंभीर चूक है. सरकार की सोच बताती है. सरकार के अधिकारी किस दिशा में सोच रहे हैं.

विभाग के बजट के लिए तारीख तय हो गया. विधायकों को प्रतिवेदन नहीं दिया गया. बगैर इसके चर्चा कैसे होगी. पहली बार यह चूक हुई है. सरकार की शुरुआत के लक्ष्य दिख रहे है. यह घटना सरकार का अपने काम के प्रति लापरवाही बता रही है.
जेसीसी विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ.विधायकों को विभागीय प्रतिवेदन पहले ही दे दिया जाता है.
चर्चा नहीं हो पाने पर टीएस सिंहदेव ने कहा कि प्रतिवेदन छपकर पहुंचने में विलंब हुआ. हम चर्चा के लिए तैयार थे, लेकिन विपक्ष के सदस्यों का कहना था कि हमे चर्चा के लिए थोड़ा और वक़्त चाहिए.
15 साल सत्ता में रहने के बाद भी विपक्ष के सदस्यों को तैयारी के लिए और समय चाहिए था. सिंहदेव ने आगे कहा कि मेरी अजय चंद्राकर से व्यक्तिगत चर्चा हुई थी. उन्होंने कहा कि हमे और वक़्त चाहिए. विपक्ष का कहना था कि हमने पूरा प्रतिवेदन नहीं पढ़ा है. इसे पढ़ने के लिए और समय चाहिए. पर चर्चा के लिए पूरी तरह तैयार थी मगर विपक्ष के आग्रह पर इसे 1 दिन के लिए आगे बढ़ाया गया.
बता दें कि सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई है. पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के बजट अनुदान मांग पर आज चर्चा होनी थी. विभागीय मंत्री टी एस सिंहदेव ने कहा कि विभाग की तैयारी नहीं है, चर्चा के लिए आगे की तारीख तय कर दी जाए.
Share it
Top