logo
Breaking

CG Budget 2019 : अजीत जोगी ने उठाये बिजली खम्भों की ठेकेदारी पर सवाल तो सीएम भूपेश बघेल ने दिया ये जवाब...

विधानसभा बजट सत्र के दूसरे दिन आज प्रश्नकाल के दौरान विधायक अजीत जोगी ने सवाल उठाते हुए कहा कि मरवाही में गौरेला पेंड्रा में बिजली के खंभे गुणवत्ता विहीन थे तो उन्हीं ठेकेदारों को काम क्यों दिया जा रहा है.

CG Budget 2019 : अजीत जोगी ने उठाये बिजली खम्भों की ठेकेदारी पर सवाल तो सीएम भूपेश बघेल ने दिया ये जवाब...

रायपुर. विधानसभा बजट सत्र के दूसरे दिन आज प्रश्नकाल के दौरान विधायक अजीत जोगी ने सवाल उठाते हुए कहा कि मरवाही में गौरेला पेंड्रा में बिजली के खंभे गुणवत्ता विहीन थे तो उन्हीं ठेकेदारों को काम क्यों दिया जा रहा है. इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जवाब देते हुए कहा कि उन ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट किया गया है. आगे उन्हें काम नहीं दिया जाएगा. अजीत जोगी ने पुनः सवाल पूछा कि सौभाग्य योजना के तहत क्षेत्र में जो ट्रांसफार्मर लगाया गया है वो पुराने हैं लोड नहीं उठा पा रही है. इस सवाल के जवाब में सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि जहाँ लोड की समस्या है उन गांवों का नाम दीजिये, जाँच कराई जाएगी.

इससे पहले डॉ रमन सिंह ने सवाल उठाते हुए कहा कि सौर सुजला योजना का लाभ इस बार जनता को मिलेगा या नहीं...? इस सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि इस बार भी 20 हजार किसानों को योजना का लाभ दिया जाएगा. जिलेवार बैठक करने के बाद तय किया जाएगा कि किस जिले में इस योजना का लाभ कितने किसानों को दिया जाएगा.
बता दें कि इससे पहले टेंडर निरस्त होने के मुद्दे पर सदन में आज जमकर हंगामा हुआ. सत्तापक्ष के जवाबों से असंतोष व्यक्त करते हुए विपक्ष ने हंगामे के बीच वाकआउट कर लिया.विधायक धरमलाल कौशिक ने सवाल करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव के पहले जितने कार्य स्वीकृत हुए हैं. आदेश के बाद जो काम रुका हुआ है. ऐसे कितने विभाग के काम रुके हैं. ये सभी काम कब तक पूरे होंगे.
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जवाब देते हुए कहा कि चुनाव के चलते आदेश दिया गया है. नई सरकार की अलग प्राथमिकता है. 203 काम को स्वीकृत किया गया है. निरीक्षण किया जा रहा है उसके बाद आदेश दिया जाएगा. जो काम रुका हुआ है उसका परीक्षण कर जारी किया जाएगा.
डॉ रमन सिंह ने कहा कि प्राधिकरण क्षेत्र के कामों को प्राथमिकता देना चाहिए. इस पर बृजमोहन अग्रवाल ने प्रश्न करते हुए कहा कि टेंडर निरस्त के कारण विकास के काम रोके गए हैं. जहाँ सरकार का पैसा भी नही लगा है. रूटीन के काम को भी रोका गया है. इस पर सत्ता पक्ष ने जमकर हंगामा किया. सत्तापक्ष ने कहा कि टेंडर में जमकर घोटाला किया गया है. इस पर सीएम ने जवाब दिया कि स्काई वाक जैसे कई योजनाएं है जिसकी समीक्षा की जाएगी. जो राज्य के बजट से टेंडर किया गया है केवल वही रोका गया है प्रस्ताव के साथ स्वीकृति दी जाएगी.
अमरजीत भगत ने कहा कि जो टेंडर हुए थे इसके पैसे वापस करना पड़ रहा है इस इस वजह से विपक्ष परेशान है. अजय चंद्रकार के विभाग और विधानसभा में बिना पैसे दिए कोई काम नही होता था. इस पर विपक्ष ने भी जमकर हंगामा किया.
हंगामे में बाद आसंदी ने कहा कि प्रश्नकाल में जो हंगामा करेगा उस पर कार्यवाही की जायेगी. इस पर मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि इस तरह से सत्ता पक्ष के द्वारा गलत आरोप लगाया जा रहा है इस से सदन नही चलाया जा सकता है.
साथ ही बता दें कि विधानसभा बजट सत्र का आज दूसरा दिन है. दूसरे दिन आज प्रश्नकाल शुरू होते ही बिलाईगढ़ विधायक चंद्रदेव प्रसाद ने सवाल उठाया कि ग्राम पंचायतों में पेयजल की संकट है. इस सवाल के जवाब में मंत्री रूद्र गुरुदेव ने कहा कि ग्राम पंचायतों में पानी की कोई समस्या नहीं है. ना ही पेयजल की संकट है.
साथ ही दुर्ग विधायक अरुण वोरा ने सवाल उठाते हुए कहा कि 2016-017 में हेलीकॉप्टर के जो टेंडर निरस्त किये गए थे. इसके पीछे वजह क्या थी. इस सवाल के जवाब पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि वो नियम का पालन नही किये हैं. इस वजह से निरस्त किया गया है. इस टेंडर में अधिक राशि नही दी गयी है. मुख्यमंत्री के जवाब से विधायक असंतुष्ट नजर आए.
Share it
Top