logo
Breaking

छत्तीसगढ़ बजट 2019 : विधानसभा में उठेंगे 1390 सवाल

छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र आठ फरवरी से शुरू हो रहा है। सत्र के लिए विधायक ताबड़तोड़ सवाल लगा रहे हैं। पंद्रह दिनों में अब तक तेरह सौ से अधिक सवाल की सूचना विधानसभा सचिवालय को मिल गई है। सवाल पूछने वालों में प्रमुख विपक्षी दल भाजपा और गठबंधन के विधायकों के साथ ही सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस के विधायक भी शामिल हैं।

छत्तीसगढ़ बजट 2019 : विधानसभा में उठेंगे 1390 सवाल
छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र आठ फरवरी से शुरू हो रहा है। सत्र के लिए विधायक ताबड़तोड़ सवाल लगा रहे हैं। पंद्रह दिनों में अब तक तेरह सौ से अधिक सवाल की सूचना विधानसभा सचिवालय को मिल गई है। सवाल पूछने वालों में प्रमुख विपक्षी दल भाजपा और गठबंधन के विधायकों के साथ ही सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस के विधायक भी शामिल हैं।
8 फरवरी को बजट पेश होने के बाद शनिवार और रविवार अवकाश के बाद विधानसभा में 11 फरवरी से प्रश्नकाल का दौर शुरू होगा। इसके लिए 16 जनवरी से सवाल लिए जा रहे हैं। चौदह दिन के कार्यालयीन समय में 1390 सवालों की सूचना विधायकों ने दी है। इसमें 782 तारांकित और 608 अतारांकित प्रश्न शामिल हैं।
विधानसभा सचिवालय के अनुसार पहले दिन 16 जनवरी को 46 सवालों की सूचना प्राप्त हुई थी। दूसरे दिन यह बढ़कर सीधे 386 हो गई। 18 जनवरी को यह संख्या 466 हो गई। इस सप्ताह के बीते पंद्रह दिनों में यह संख्या बढ़कर 1390 तक पहुंच गई है। आने वाले दिनों में यह और बढ़ेगी।
विधायकों ने 30 जनवरी को 116 सवाल लगाए हैं। विधानसभा में सवाल लगाने के संबंध में सचिवालय के अधिकारी बताते हैं कि 8 मार्च तक चलने वाले सत्र के लिए 15 फरवरी तक सवाल लगाए जा सकते हैं। इसके साथ ध्यानाकर्षण और लोक महत्व की सूचना भी सत्र के दौरान दी जा सकती है। सचिवालय को मिल रहे सवालों को जवाब के लिए विभागों को भेजा जा रहा है।

विधानसभा में लग रहे जनहित के सवाल

विधानसभा में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में जनता के हितों को ध्यान में रखकर नए पुराने विधायक सवाल लगा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में जमीनों के अतिक्रमण, सड़क, पेयजल, स्वास्थ्य, शिक्षा, आबकारी और कानून व्यवस्था और आम लोगों को दी जाने वाली योजनाओं के लाभ नहीं मिलने जैसे सवाल लगाए जा रहे हैं।
Share it
Top