logo
Breaking

विपक्ष भाजपा को नहीं हरा सकता, क्योंकि यह काम ‘अंगद के पांव उठाने जितना ही भारी है'': अमित शाह

राजनांदगांव जिले में डूंगरगढ़ के कुरूभात गांव में रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि विपक्ष भाजपा को नहीं हरा सकती है क्योंकि यह काम अंगद के पांव उठाने जितना ही भारी है।

विपक्ष भाजपा को नहीं हरा सकता, क्योंकि यह काम ‘अंगद के पांव उठाने जितना ही भारी है

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले चार वर्ष में नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा किये गए काम का हिसाब मांगने के बजाय कांग्रेस अध्यक्ष को यह बताना चाहिए कि छह दशक लंबे उनके परिवार के शासनकाल में विकास कार्य जनता तक क्यों नहीं पहुंचे। राजनांदगांव जिले में डूंगरगढ़ के कुरूभात गांव में रैली को संबोधित करते हुए शाह ने छत्तीसगढ़ के आगामी विधानसभा चुनाव में कुल 90 में से 65 सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा।

शाह ने कहा कि विपक्ष भाजपा को नहीं हरा सकती है क्योंकि यह काम ‘‘अंगद के पांव उठाने जितना ही भारी है।' अंगद रामायण के किरदार राजा बाली के पुत्र हैं। राक्षस राज रावण के दरबार में दूत बनकर गये अंगद किसी बात पर अड़ गये और अपने पांव जमाकर खड़े हो गये। उस वक्त तमाम प्रयासों के बावजूद कोई उनके पांव को नहीं हिला सका था।

इसे भी पढ़ें- IPC की धारा 377 की संवैधानिक वैधता पर आज आ सकता है सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

कुरूभात गांव से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के चुनाव प्रचार के दूसरे चरण का शुभारंभ करने के बाद शाह ने यह बात कही। इस यात्रा का नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी पर किया गया है। इस यात्रा के पहले चरण में 55 विधानसभा क्षेत्रों में 5,000 किलोमीटर की दूरी तय की गयी वहीं दूसरे चरण में करीब 6,000 किलोमीटर की दूरी तय किये जाने की संभावना है।

कुरूभात गांव के प्रज्ञागिरि में रैली को संबोधित करते हुए शाह ने दावा किया कि राहुल गांधी को मोदी सरकार से सवाल करने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों के कामकाज की आलोचना भी की।

इसे भी पढ़ें- गडकरी का वैकल्पिक ईंधन पर जोर, कहा- सरकार पेट्रोल, डीजल के खिलाफ नहीं

भाजपा प्रमुख ने कहा, ‘‘उनकी (राहुल) सरकार 60 साल तक शासन में थी लेकिन क्यों प्रत्येक गांव तक बिजली नहीं पहुंची... किसानों को बेहतर एमएसपी क्यों नहीं मिल.... अन्य कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनता तक क्यों नहीं पहुंचा।' उन्होंने कहा, ‘‘देश की जनता आपके 60 वर्ष के शासन का हिसाब जानना चाहती है।'

उन्होंने कहा, ‘‘हमें आपको जवाब देने की जरूरत नहीं है। आपको सवाल करने का कोई हक नहीं है।'प्रचार अभियान शुरू करने से पहले शाह और सिंह ने डूंगरगढ़ में मां बामलेश्वरी मंदिर में पूजा अर्चना की। शाह ने छत्तीसगढ़ में संचार क्रांति योजना के तहत रमन सिंह सरकार द्वारा मोबाइल फोन खरीद की राहुल गांधी द्वारा आलोचना किये जाने की भी निंदा की।

प्रदेश सरकार द्वारा इस वर्ष जुलाई में शुरू किये गए संचार अभियान के तहत गरीब परिवारों से ताल्लुक रखने वाली 45 लाख महिलाओं और पांच लाख कॉलेज छात्रों को लाभ मिलेगा। शाह ने कहा, ‘‘मैं कांग्रेस के शाहजादे का भाषण सुन रहा था। वह मोदी जी से पिछले चार वर्ष में किये गये कामकाज का हिसाब मांग रहे थे। वह ऐसा सवाल कर ही क्यों रहे थे?'

इसे भी पढ़ें- NRC विवाद: SC में दायर रिपोर्ट के मुताबिक एनआरसी में नाम जोड़ने के लिए ये 10 दस्तावेज होंगे मान्य

उन्होंने कहा, ‘‘देश की जनता राहुल से जानना चाहती है कि उनकी चार पीढ़ियों के शासनकाल में क्या हुआ है।' पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के दौरान सामने आये कथित कोयला घोटाले का हवाला देते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस ‘‘कोयला खदानों की चोर है जिसने कोयला ब्लॉक आवंटन में अनियमितताएं की हैं।'

उन्होंने कहा, ‘‘अपने हालिया छत्तीसगढ़ दौरे पर राहुल बाबा रमन सिंह सरकार से सवाल कर रहे थे कि संचार क्राति योजना के लिए उन्होंने भेल से मोबाइल फोन क्यों नहीं खरीदा। भेल मोबाइल फोन नहीं बनाता है, राहुल को यह भी नहीं पता है और वह हिसाब मांग रहे हैं।'

छत्तीसगढ़ के गठन में वाजपेयी के योगदान को याद करते हुए शाह ने कहा, अटलजी ने छत्तीसगढ़ की स्थापना की और रमन सिंह ने इसे उनके सपनों के अनुरूप विकसित किया है। राज्य का गठन एक नवंबर, 2000 को हुआ।

छत्तीसगढ़ में इस वर्ष के अंत में मध्यप्रदेश, राजस्थान और मिजोरम की विधानसभाओं के साथ चुनाव होने हैं। शाह ने छत्तीसगढ़ की नयी राजधानी का नाम ‘अटल नगर' रखने के लिए रमन सिंह सरकार की प्रशंसा की।

उन्होंने लोगों से रमन सिंह सरकार को चौथा कार्यकाल देने की अपील की, ताकि 2025 तक नये छत्तीसगढ़ का निर्माण हो सके। भाजपा अध्यक्ष ने कहा, भाजपा के (15 साल पहले) सत्ता में आने से पहले छत्तीसगढ़ को बीमारू राज्य माना जाता था। लेकिन अब इसे विकसित राज्यों में गिना जाने लगा है।

शाह ने कहा कि बतौर प्रधानमंत्री मोदी ने उरी हमले के बाद नियंत्रण रेखा के पार पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक का आदेश देकर यथोचित जवाब दिया। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि उनकी सरकार ने 2025 तक नये छत्तीसगढ़ के निर्माण के लिए दृष्टिपत्र तैयार किया है।

Share it
Top