Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कुछ ऐसा हुआ कि स्पीकर को कहना पड़ा " शब्द संभारे बोलिए"

विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कुछ ऐसा वाक्या हुआ कि स्पीकर को कहना पड़ा कि 'शब्द संभारे बोलिए ,शब्द के हाथ ना पांव, एक शब्द कर करे औषधि ,एक शब्द करे घाव'। दरअसल सदन में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने औद्योगिक शहरों में श्रमिको की मौत का सवाल उठाया।

विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कुछ ऐसा हुआ कि स्पीकर को कहना पड़ा " शब्द संभारे बोलिए"Chhattisgarh Assembly Monsoon Session question hours updates

रायपुर। विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कुछ ऐसा वाक्या हुआ कि स्पीकर को कहना पड़ा कि 'शब्द संभारे बोलिए ,शब्द के हाथ ना पांव, एक शब्द कर करे औषधि ,एक शब्द करे घाव'। दरअसल सदन में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने औद्योगिक शहरों में श्रमिको की मौत का सवाल उठाया। जिसके जवाब में नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया शिव डहरिया ने जवाब दिया। मंत्री ने बताया कि दिसम्बर 2018 से 20 जून 2019 तक 45 मज़दूरों की मौत दुर्घंटना से हुई है।

कौशिक ने आरोप लगाया कि जांच मृत्यु के बाद की जा रही है। लेकिन उससे पहले उद्योगों में सुरक्षा की दृष्टि से, विस्फोटक पदार्थ को रखने की व्यवस्था को लेकर कार्रवाई नहीं की जा रही है। लेकिन मंत्री के जवाब से असंतुष्ट होकर भाजपा सदस्यों का हंगामा कर दिया। अजय चंद्राकर ने शब्दों पर ध्यान देने की बात कही। इस पर मंत्री भडक गए, डहरिया ने चंद्राकर से कहा आपसे ज्यादा शालीन शब्दों में बात करता हूं। जिसके बाद स्पीकर को हस्तक्षेप करना पड़ा। स्पीकर ने सदस्यों से सही शब्दों के चयन का अनुरोध किया।

Share it
Top