logo
Breaking

राजधानी की चार सीटों के 123 प्रत्याशियों में से 114 प्रत्याशियों की जमानत जब्त

विधानसभा चुनाव में राजधानी की चारों सीटों से 123 प्रत्याशी मैदान पर थे। इनमें जीतने और हारने वाले भाजपा-कांग्रेस के 8 प्रत्याशियों के अलावा एकमात्र जाेगी कांग्रेस के ग्रामीण के प्रत्याशी ओमप्रकाश देवांगन ही हैं जो अपनी जमानत बचा सके। बाकी 114 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई।

राजधानी की चार सीटों के 123 प्रत्याशियों में से 114 प्रत्याशियों की जमानत जब्त

विधानसभा चुनाव में राजधानी की चारों सीटों से 123 प्रत्याशी मैदान पर थे। इनमें जीतने और हारने वाले भाजपा-कांग्रेस के 8 प्रत्याशियों के अलावा एकमात्र जाेगी कांग्रेस के ग्रामीण के प्रत्याशी ओमप्रकाश देवांगन ही हैं जो अपनी जमानत बचा सके। बाकी 114 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई। इनमें 77 निर्दलीय हैं। सबसे ज्यादा 29 निर्दलीय प्रत्याशी रायपुर दक्षिण से खड़े थे।

राजधानी की चार सीटों रायपुर दक्षिण, रायपुर उत्तर, रायपुर पश्चिम और रायपुर ग्रामीण में इस बार भी भारी संख्या में प्रत्याशी मैदान पर रहे। इस बार भी सबसे ज्यादा प्रत्याशी रायपुर दक्षिण में रहे। इन सभी में कोई भी निर्दलीय या क्षेत्रीय पार्टी का प्रत्याशी अपने मतों की संख्या को पांच हजार तक भी ले जाने में सफल नहीं हुआ। रायपुर ग्रामीण से जरूर जोगी कांग्रेस के आेमप्रकाश देवांगन ने सबसे ज्यादा मत प्राप्त कर अपनी जमानत बचाने का काम किया।
दक्षिण में यह रही स्थिति
रायपुर दक्षिण से सबसे ज्यादा 46 प्रत्याशी मैदान पर थे। जीतने वाले भाजपा के बृजमोहन अग्रवाल के बाद हारने वाले कांग्रेस के कन्हैया अग्रवाल दूसरे स्थान पर रहे। यहां तीसरा स्थान नोटा का रहा। नोटा में 1521 मत पड़े। इसके बाद चौथा स्थान बसपा के उमेश दास मानिकपुरी का रहा जिन्हें 1514 मत मिले। पांचवें स्थान पर रहे आप पार्टी के मुन्ना बिसेन को 1363 मत मिले। शिवसेना के रेशम लाल जागड़े को महज 226 मत मिले। ऐसा ही हाल क्षेत्रीय पार्टियों के प्रत्याशियों सहित 29 निर्दलीय प्रत्यशियों का रहा। इन्हें 25 से 200 तक मत मिले। निर्दलियों में सबसे ज्यादा 260 मत मनीष श्रीवास्तव काे मिले। कोई भी प्रत्याशी अपनी जमानत नहीं बचा सका।

पश्चिम से भी नहीं बची किसी की जमानत
रायपुर पश्चिम से कांग्रेस के विकास उपाध्याय से हारने वाले प्रदेश के पूर्व मंत्री राजेश मूणत के अलावा कोई भी अपनी जमानत नहीं बचा सका। यहां से तीसरे स्थान पर बसपा के भोजराज गौरखेड़े रहे। इन्हें 2271 मत मिले, लेकिन वह मत जमानत नहीं बचा सके। आम आदमी पार्टी के उत्तम जायसवाल को महज 984 मत मिले। इस विस से अन्य क्षेत्रीय पार्टी सहित निर्दलीय प्रत्याशियों को 50 से 500 तक मत मिले। निर्दलीय में सबसे ज्यादा 592 मत अजय मिश्रा को मिले। निर्दलियों से ज्यादा नोटा में 779 मत पड़े। इस विस से 25 निर्दलियों सहित 37 प्रत्याशी मैदान पर थे।

ग्रामीण में जोगी कांग्रेस की बची जमानत
रायपुर ग्रामीण से जोगी कांग्रेस के आेमप्रकाश देवांदन 17175 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे और अपनी जमानत बचाने में सफल रहे। इस विस से लड़ने वाले बाकी प्रत्याशियों की भी जमानत जब्त हो गई। यहां से आप पार्टी के संकेत ठाकुर के साथ दो निर्दलियों को एक हजार से ज्यादा मत मिले। चौथे स्थान पर रहने वाले निर्दलीय पितांबर जांगड़े को 1483 और पांचवें स्थान पर रहने वाले नरेंद्र कुमार बघेल को 1106 मत मिले। आप पार्टी के संकेत ठाकुर को 1096 मत मिले। यहां से नोटा में 955 मत पड़े। यहां से 13 निर्दलियों सहित 22 प्रत्याशी चुनाव मैदान पर थे।
उत्तर से जोगी कांग्रेस की भी जमानत जब्त
रायपुर उत्तर की सीट से जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी अमर गिदवानी भी अपनी जमानत नहीं बचा सके। उन्हें महज 2510 वोट मिले। इन मतों के साथ वे तीसरे स्थान पर जरूर रहे। यहां से आप पार्टी के याेगेंद्र सेन चौथे स्थान पर रहे। उन्हें 898 मत मिले। नोटा में 705 मत पड़े। निर्दलीय शंकर लाल वरंदानी को 686 मत मिले। बाकी निर्दलियों और क्षेत्रीय पार्टी के प्रत्याशियों को 50 से चार सौ तक मत मिले और सभी की जमानत जब्त हो गई। यहां से दस निर्दलियों सहित 18 प्रत्याशी मैदान पर थे।
Share it
Top