Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ / सरकार बदली, अब DGP की बारी, अगस्त में हो रहे हैं रिटायर

छत्तीसगढ़ में सरकार बदलने के बाद अब और भी बदलाव की प्रक्रिया दिख रही है। इस कड़ी में राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एएन उपाध्याय के स्थान पर नए अधिकारी की नियुक्ति संभावित है। हालांकि सरकार बदलने से श्री उपाध्याय का सीधा वास्ता नहीं है।

छत्तीसगढ़ / सरकार बदली, अब DGP की बारी, अगस्त में हो रहे हैं रिटायर
छत्तीसगढ़ में सरकार बदलने के बाद अब और भी बदलाव की प्रक्रिया दिख रही है। इस कड़ी में राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एएन उपाध्याय के स्थान पर नए अधिकारी की नियुक्ति संभावित है। हालांकि सरकार बदलने से श्री उपाध्याय का सीधा वास्ता नहीं है।
दरअसल श्री उपाध्याय अगस्त 2019 में रिटायर होने वाले हैं, लेकिन इससे पहले माना जा रहा है कि नई सरकार बनने के बाद राज्य के कुछ बड़े अधिकारियों की पदस्थापना में फेरबदल हो सकता है। इस सिलसिले में डीजीपी बदले जाने की चर्चा है। पुलिस महानिदेशक एएन उपाध्याय करीब पांच साल से इस पद पर काबिज हैं।
उनके बारे में माना जाता है कि वे सीधी सरल छवि के अधिकारी हैं। उन्हें 2013 के विधानसभा चुनाव से पहले उस समय पुलिस महानिदेशक बनाया गया था, जब राज्य सरकार केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर तैनात एक अधिकारी को डीजीपी बनाने के प्रयास में थी, लेकिन किसी कारणवश उनकी पदस्थापना नहीं हो सकी।
इस हालात में श्री उपाध्याय को सरकार ने डीजीपी नियुक्त किया था, लेकिन नियुक्ति के बाद से अब तक जिस सादगी से श्री उपाध्याय ने इस पद को संभाला उसी के अनुरूप वे अब तक काम करते आ रहे हैं। अब तक वे बगैर किसी विवाद में पड़े अपना काम बेहतर तरीके से करते आ रहे हैं। अब अगस्त में उनका रिटारमेंट है।

नए अधिकारी को मिल सकती है जिम्मेदारी

जानकार सूत्रों का कहना है कि श्री उपाध्याय के स्थान पर किसी नए अधिकारी की नियुक्ति की संभावना भी बनी हुई है। राज्य सरकार चाहे, तो वे अगस्त तक पद पर बने रह सकते हैं, लेकिन उनके रिटायरमेंट को देखते हुए नए डीजीपी की तलाश शुरू हो गई है।
इस पद के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को दावेदार माना जा रहा है। बताया गया है कि राज्य में डीजीपी पद के लिए दावेदारों में प्रमुख नाम गिरधारी नायक का है। उनके बाद एंटी नक्सल ऑपरेशन के विशेष पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी की दावेदारी है।
बताया गया है कि श्री नायक फिलहाल राज्य में भारतीय पुलिस सेवा के सबसे वरिष्ठ अधिकारियों में शामिल हैं। उनके रिटारमेंट में भी 6 माह का समय है। लिहाजा संभावना है कि वे सेवाकाल के अंतिम महीनों में राज्य के पुलिस प्रमुख बनाए जा सकते हैं। श्री नायक के बारे में माना जाता है कि वे सरल छवि, लेकिन नियम कायदे का कड़ाई से पालन करने वाले शांत स्वभाव के अधिकारी हैं।

लोकसभा चुनाव पर भी रहेगा निर्भर

राज्य में पुलिस महानिदेशक जैसे महत्वपूर्ण पद पर बदलाव की संभावना के बीच ऐसी चर्चा है कि नई सरकार यह बदलाव करने से पहले अपने सियासी नफा-नुकसान का भी आकलन करना चाहेगी। मई 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं। इससे पहले कांग्रेस के नेतृत्व वाली राज्य सरकार यह भी देखना चाहेगी कि किसी ऐसे अधिकारी को ये दायित्व दिया जाए, जो उसके लिए उपयुक्त हो।
Next Story
Share it
Top