Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डहरिया को टिकट दिया तो कांग्रेस को हराएंगे, खूंटे समर्थकों ने भूपेश को सौंपी चिट्ठी

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की दहलीज पर खड़ी कांग्रेस में एक बार फिर टिकट को लेकर बागी सुर जोर पकड़ने लगे हैं। रायपुर में दावेदारों के खिलाफ पर्चाकांड और नारेबाजी के बाद बिलाईगढ़ के कांग्रेसियों ने राजीव भवन पहुंचकर प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष शिवकुमार डहरिया के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया।

डहरिया को टिकट दिया तो कांग्रेस को हराएंगे, खूंटे समर्थकों ने भूपेश को सौंपी चिट्ठी

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की दहलीज पर खड़ी कांग्रेस में एक बार फिर टिकट को लेकर बागी सुर जोर पकड़ने लगे हैं। रायपुर में दावेदारों के खिलाफ पर्चाकांड और नारेबाजी के बाद बिलाईगढ़ के कांग्रेसियों ने राजीव भवन पहुंचकर प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष शिवकुमार डहरिया के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया।

पूर्व सांसद और प्रदेश उपाध्यक्ष पीआर खूंटे के नेतृत्व में पीसीसी चीफ भूपेश बघेल को सौंपी चिट्ठी में कांग्रेसियों ने लिखा कि शिवकुमार डहरिया क्षेत्र से कट चुके हैं। उनका मतदाताओं से संपर्क नहीं है, इसलिए वे जिताऊ प्रत्याशी नहीं हैं। बिलाईगढ़ के कांग्रेसियों ने बहुत देर तक राजीव भवन में नारेबाजी भी की। उन्होंने चेतावनी दिया कि यदि कांग्रेस ने डहरिया को टिकट दिया तो उन्हें हार का सामना करना पडेगा.

बिलाईगढ़ से पहुंचे कांग्रेसियों ने हरिभूमि से बातचीत में शिव डहरिया और काम कर देंगे शब्द पर जोर देते हुए कहा, वैसे तो पार्टी जिसे टिकट देगी हम उसका काम कर देंगे, लेकिन स्थानीय प्रत्याशी को टिकट मिलने पर जीत की संभावना कई गुना बढ़ जाएगी।
बिलाईगढ़ से आए कांग्रेसियों के इस वाक्य के कई कई अर्थ निकाले जा रहे हैं। दरअसल पीसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष शिव डहरिया, पूर्व लोकसभा प्रत्याशी प्रेमचंद जायसी, पूर्व सांसद पीआर खूंटे और पूर्व विधानसभा प्रत्याशी गोरेलाल बर्मन समेत 21 लोगों ने बिलाईगढ़ सीट से अपनी दावेदारी पेश की है। अब वहां किसी स्थानीय को ही टिकट देने की मांग तेज हो गई है।

विरोध खूंटे का भी

बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसजन पूर्व सांसद पीआर खूंटे के नेतृत्व में ही राजीव भवन पहुंचे थे। हैरानी की बात यह रही कि टिकट को लेकर उनका भी विरोध देखने मिला। वहां के कांग्रेसी उन्हें पलारी का निवासी बताते हुए कहने लगे कि बिलाईगढ़ में इस बार किसी भी स्थानीय दावेदार को ही टिकट मिलना चाहिए। इसी तरह दूसरी विधानसभाओं से जुड़े कुछ और दावेदारों को लेकर भी जमकर विरोध हो रहा है।

21 में 7 बाहरी, बाकी एकजुट

बिलाईगढ़ से पहुंचे कार्यकर्ताओं ने बताया, इस सीट पर 21 दावेदारों ने आवेदन दिया है। इसमें गोरेलाल बर्मन, पीआर खूंटे, प्रेमचंद जायसी, शिव डहरिया, रवि भारद्वाज, सुमित्रा धृतलहरे और मेवालाल डहरिया को बाहरी प्रत्याशी माना जा रहा है। लोकल में चंद्रदेव राय, किशोर निराला, कविता प्राण लहरे, नितिन मुकेश टंडन, रामसाय बघेल, लता जाटवार, लहाराम रत्नाकर और सुरीतराम धृतलहरे के नाम शामिल हैं।

सभी जिला व ब्लॉक अध्यक्षों ने सौंपी रिपोर्ट

पीसीसी चीफ भूपेश बघेल को मंगलवार को प्रदेश के अधिकतर जिला व ब्लॉक अध्यक्षों ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। सभी विधानसभाओं के समन्वयकों से मुलाकात का क्रम भी दिनभर चलता रहा। अब जिला, ब्लॉक और समन्वयकों की रिपाेर्ट को ही चुनाव अभियान समिति और स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में रखा जाएगा।
दोनों बैठकों में सभी सीटों के लिए पैनल तय किए जाने की बात भी कही जा रही है। वरिष्ठ नेताओं द्वारा भी सभी सीटों के संबंध में रिपोर्ट तैयार की गई है। इसे भी बैठक में रखा जाएगा, जबकि स्क्रीनिंग कमेटी और सीईसी द्वारा भी अपने स्तर पर नामों की छानबीन की जाएगी। इस प्रक्रिया से गुजरने के बाद ही दावेदारों के टिकट पर मुहर लगेगी।
Next Story
Share it
Top