Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ के दूसरे चरण का गणित बिगाड़ सकते हैं 561 निर्दलीय, जानें कैसे

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 दूसरा चरण (Chhattisgarh Assembly Election 2018 Second Phase) के लिए 20 नवंबर 2018 72 सीटों पर मतदान होगा।

छत्तीसगढ़ के दूसरे चरण का गणित बिगाड़ सकते हैं 561 निर्दलीय, जानें कैसे

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 दूसरा चरण (Chhattisgarh Assembly Election 2018 Second Phase) के लिए 20 नवंबर 2018 72 सीटों पर मतदान होगा। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में इस बार पिछले तीन चुनावों के मुकाबले न केवल प्रत्याशियों की संख्या में वृद्धि हुई है, वरन निर्दलीय चुनाव लड़ने वालों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। छत्तीसगढ़ के पहले विधानसभा चुनाव 2003 में 254 निर्दलीयों से बढ़कर यह संख्या अब 561 तक पहुंच गई है। दूसरे चरण में बिंद्रानवागढ़ में एक भी निर्दलीय प्रत्याशी नहीं है, वहीं सबसे अधिक 29 निर्दलीय प्रत्याशी रायपुर दक्षिण में हैं।

राज्य में पहले चरण के दौरान 68 निर्दलीय चुनाव मैदान पर थे। इस चरण के दौरान भानुप्रतापपुर और काेंटा विधानसभा से एक भी निर्दलीय प्रत्याशी नहीं था। राजनांदगांव में 20 निर्दलीयों ने भाग्य आजमाया था, वहीं दूसरे चरण में 72 सीटों की स्थिति देखी जाए, तो 493 निर्दलीय प्रत्याशी मैदान पर हैं।

वहीं पंजीकृत राजनीतिक दलों के 389 प्रत्याशी चुनाव में भाग्य आजमा रहे हैं। हालांकि कई स्थानों पर निर्दलीयों ने कई बार अपने दम पर राष्ट्रीय दलों के प्रत्याशियों काे पटखनी दी है। इनमें महासमुंद विधानसभा सीट से पिछली बार डॉ. विमल चोपड़ा निर्दलीय चुनाव जीते थे।

वर्ष 2003 में कुल प्रत्याशी के मुकाबले 31 प्रतिशत निर्दलीयों ने अपना भाग्य आजमाया था। वहीं 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव में कुल प्रत्याशियों के लगभग 36 प्रतिशत चुनाव मैदान पर थे। वहीं इस साल यह कुल प्रतयाशियों के मुकाबले बढ़कर 44 प्रतिशत तक पहुंच गए हैं।

कहां कितने निर्दलीय उम्मीदवार (Chhattisgarh Independents Candidate List)

छत्तीसगढ़ में लगभग 17 विधानसभा सीटें ऐसी हैं, जहां निर्दलीयों की संख्या 10 से अधिक है। दूसरे चरण में भटगांव 12, अंबिकापुर 11, कोरबा 11, तखतपुर 14, बिल्हा 17, बिलासपुर 15, लोरमी 11, बसना 11, कसडोल 18, रायपुर ग्रामीण 13, रायपुर नगर पश्चिम 25, रायपुर नगर उत्तर 10, रायपुर दक्षिण 29, धमतरी में 11, नवागढ़ में 10 एवं कबीरधाम में 14 प्रत्याशी हैं। कुल मिलाकर 87 विधानसभा क्षेत्रों में 561 निर्दलीय प्रत्याशी मैदान पर हैं।

छत्तीसगढ़ निर्दलीयों का गणित (Chhattisgarh Independents Candidate)

चुनाव में बढ़ते धनबल के प्रयोग के कारण बहुत से लोग चुनाव नहीं लड़ पाते। निर्दलीय चुनाव लड़ने वालों में भाजपा कांग्रेस एवं अन्य राजनीतिक दलों से जुड़े हुए लोग विरोध स्वरूप मैदान पर आ जाते हैं। राजनीति में कुछ लोग हूबहू नाम वाले प्रत्याशी खड़ा कर उनका वोट काटने मैदान पर आ जाते हैं। उसके पीछे भी राजनीतिक रूप से रणनीति का ही हिस्सा हाेता है।

इस बार प्रत्याशी बढ़ने के साथ निर्दलीय भी बढ़े

2003 में कुल 819 प्रत्याशी में निर्दलीय प्रत्याशी 254 थे। 2008 में 1066 प्रत्याशियों में निर्दलीयों की संख्या बढ़कर 387 पहुंच गई। 2013 में निर्दलीयों की संख्या 2008 में कुल प्रत्याशी 986 में 357 निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव लड़े थे। 2008 की तुलना में 30 प्रत्याशी कम थे। 2018 में कुल प्रत्याशी बढ़कर 1268 हो गए। वहीं 561 निर्दलीय प्रत्याशी मैदान पर हैं। कुल प्रत्याशियों के मुकाबले इस साल 44 प्रतिशत से अधिक निर्दलीय मैदान पर हैं।

वर्षवार निर्दलीयों की संख्या

वर्ष निर्दलीय कुल प्रत्याशी

2003 254 819

2008 387 1066

2013 357 986

2018 561 1268

Next Story
Share it
Top