logo
Breaking

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018: शराब के लिए जंग, कोई जीता-कोई हारा

शराब दुकानों में रविवार को देखने लायक नजारा था, मदिरा प्रेमी एक दूसरे के साथ गुत्थम गुत्था और धक्का मारते हुए शराब खरीदते देखे गए। भीड़ का सामना करने के बाद जैसे-तैसे जो शराब खरीदने में कामयाब हो गया, उसे काउंटर से बाहर निकलने के लिए भारी मशक्कत करनी पड़ी।

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018: शराब के लिए जंग, कोई जीता-कोई हारा

शराब दुकानों में रविवार को देखने लायक नजारा था, मदिरा प्रेमी एक दूसरे के साथ गुत्थम गुत्था और धक्का मारते हुए शराब खरीदते देखे गए। भीड़ का सामना करने के बाद जैसे-तैसे जो शराब खरीदने में कामयाब हो गया, उसे काउंटर से बाहर निकलने के लिए भारी मशक्कत करनी पड़ी।

शराब खरीदने में कामयाब होने वाले लोगों के चेहरे में चुनाव जीतने से ज्यादा खुशी दिख रही थी। शराब खरीदने में कामयाब होने के बाद एक शख्स भीड़ का सामना नहीं कर सका और वह जमीन पर गिर गया, उस शख्स को गिरने की चिंता कम और शराब की बोतल बचाने की ज्यादा चिंता दिखी।

मतदान के दो दिन पहले ड्राई डे घोषित होने की वजह से रविवार को देशी, विदेशी मदिरा दुकान में सैलाब उमड़ पड़ा। मदिरा प्रेमियों की भीड़ से शराब दुकान में मेला जैसा माहौल देखने को मिला।

शहर के भीतर और आउटर की शराब दुकानों में मदिरा प्रेमियों की जबरदस्त भीड़ थी। टिकरापारा, कटोरा तालाब, लाखेनगर, एमजी रोड की शराब दुकान के सामने ट्रैफिक जाम की स्थिति निर्मित हो गई। बेकाबू भीड़ को कंट्रोल करने पुलिस को सामने आना पड़ा।

शराब ठेका के सरकारीकरण होने के बाद मदिरा दुकानों में भीड़ लगना आम बात हो गई है। ड्राई डे और पर्व के समय शराब के शौकीन अपने लिए कोटा रखने अतिरिक्त इंतजाम करते हैं, इसी वजह से शराब दुकान में शराब खरीदने मारामारी बढ़ जाती है।

आचार संहिता के चलते किसी को एक बोतल से ज्यादा शराब नहीं दी जा रही है। इसके चलते मदिरा प्रेमी अलग-अलग दुकानों में जाकर शराब खरीदते रहे।

इस वजह से भी बढ़ी भीड़

आचार संहिता लगने के बाद रायपुर कलेक्टर ने आदेश जारी कर शराब दुकान खोलने और बंद करने के समय में एक-एक घंटे की कटौती कर दी है। इस वजह से भी शराब दुकानों में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।

इसके अलावा चुनाव के 48 घंटे पहले शराब खरीदने के समय में चार घंटे की और कटाैती कर दी गई। शराब दुकान रविवार को शाम पांच बजे बंद करने का आदेश था। समय के अभाव को देखते हुए मदिरा प्रेमियों की शराब दुकानों में भीड़ रही।

Share it
Top