logo
Breaking

छत्तीसगढ़ चुनाव : तीन मतदान कर्मियों की सुरक्षा में 40 जवान, बेहद रोचक ये तीन घटना

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के पहले चरण के लिए सोमवार को मतदान हुए। इस बार मतदान में रिकॉर्ड 76.28 प्रतिशत वोटिंग हुई। लेकिन चुनाव के दौरान कुछ ऐसी तस्वीरें भी सामने आई हैं जिसकी कहानी बेहद रोचक है।

छत्तीसगढ़ चुनाव : तीन मतदान कर्मियों की सुरक्षा में 40 जवान, बेहद रोचक ये तीन घटना

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के पहले चरण के लिए सोमवार को मतदान हुए। इस बार मतदान में रिकॉर्ड 76.28 प्रतिशत वोटिंग हुई। लेकिन चुनाव के दौरान कुछ ऐसी तस्वीरें भी सामने आई हैं जिसकी कहानी बेहद रोचक है। जानिए इन घटनाओं के बारे में...

बीजापुर से जिला मुख्यालय से लगभग 35 किमी दूर वंगपल्ली गांव में मतदान के लिए तीन मतदान कर्मियों का दल पहुंचा। मतदान कर्मियों की सुरक्षा के लिए नागा बटालियन के 40 जवान भी साथ थे। वंगपल्ली तक पहुंचने के लिए मतदान कर्मियों और जवानों को चार किलोमीटर पैदल चलना पड़ा। नदी भी पार करनी पड़ी।

मतदान दल 4 किमी पैदल चला, नदी भी पार की

वंगापल्ली में पहले चरण के चुनाव के लिए मतदान कराने मतदान दल के कर्मियों को उबड़-खाबड़ रास्तों से चार से पांच किमी तक पैदल चलना पड़ा। इस बीच रास्ते में नदी भी आई वे उसे पार कर गांव तक पहुंचे और मतदान संपन्न करा उसी दुर्गम रास्ते से सुरक्षित लौटे।

सुरक्षा में लगे थे नागा बटालियन के जवान

चुनाव कराने पहुंचे मतदान दल के दो-तीन कर्मचािरयों अधिकारियों की सुरक्षा में नागा बटालियन के 40 जवान लगे हुए थे। वंगापल्ली बूथ केंद्र 95 में मतदाताओं की संख्या 823 है और यहां कुल मतदान 666 हुआ। इस मतदान केंद्र में किसी प्रकार की नक्सली घटना को रोकने के लिए 40 से ज्यादा नागा बटालियन के जवान मौजूद रहे।

मतदान के बाद ईवीएम के साथ सुरक्षित लौटा दल

मतदान अधिकारी 2 राजेश मिश्रा ने बताया कि पहली बार मतदान कराने का अनुभव मिला हम मतदान कर्मी 4 किमी पैदल चलकर वंगापल्ली पहुंचे मन में भय भी था कि कहीं नक्सली हमला न हो जाये पर लोकतंत्र को बचाने के लिए ये परीक्षा भी जरूरी थी और नागा बटालियन की निगरानी में हम सुरक्षित रूप से मतदान कराने में सफल रहे।

फोटो साभार- गुप्तेश्वर जोशी

Share it
Top