logo
Breaking

Chhattisgarh Election : नक्सलियों ने दी गांववालों को धमकी, CRPF ने जारी किया बयान

सीआरपीएफ ने दावा किया है कि हमने एक सुरक्षित वातावरण के ग्रामीणों को आश्वासन दिया और तीन घेरे में सुरक्षा बनाई है ताकि लोगों को वोट करने पर कोई परेशानी ना हो

Chhattisgarh Election : नक्सलियों ने दी गांववालों को धमकी, CRPF ने जारी किया बयान
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के पहले चरण की 18 विधसानसभा सीटों पर मतदान सुबह सात बजे से शुरू हो गया है। छत्तीसगढ़ चुनाव के पहले चरण में नक्सल प्रभावित इलाके बस्तर और राजनांदगांव के 8 जिलों की 18 विधानसभा सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं।
एएनआई के मुताबिक, निलवया नक्सली हमले के बाद एक बार फिर चुनौती खड़ी हो गई है। नक्सलियों ने वोट के खिलाफ गांववालों को धमकी दी है। लेकिन वहीं सीआरपीएम ने बड़ा दावा किया है।
सीआरपीएफ ने दावा किया है कि हमने एक सुरक्षित वातावरण के ग्रामीणों को आश्वासन दिया और तीन घेरे में सुरक्षा बनाई है ताकि लोगों को वोट करने पर कोई परेशानी ना हो और लोग बिना डर के अपने घर चले जाएं। बस्तर इलाके में सक्रिय नक्सली पोस्टरों और मीटिंग के जरिए लोगों को चुनाव में बीजेपी का बहिष्कार करने को कह रहे हैं।
आपको बता दें कि पिछले पंद्रह सालों से लगातार राज्य की कमान संभाल रहे मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह अपनी घरेलू सीट राजनांदगांव से चुनाव मैदान पर हैं। यहां से कांग्रेस ने कभी बीजेपी में रहीं करुणा शुक्ला को मैदान पर उतारा है।
गौरतलब है कि नक्सल प्रभावित बस्तर इलाके में 20.4 लाख मतदाता हैं। बस्तर के 12 विधानसभा क्षेत्रों में 1500 पोलिंग बूथ बनाये गए हैं। यहाँ सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक ही लोग वोट डाले जाएंगे। सुरक्षा के लिए 65 हजार जवानों की तैनाती की गई है।
वहीं राजनांदगांव में एक लाख 21 हजार मतदाता राजनीतिक दलों का भाग्य तय करेंगे। राजनांदगांव जिले की सभी छह सीटों पर करीब 11 लाख मतदाता नए विधायक को चुनेंगे। यहां 1505 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। यहाँ 10 हजार से अधिक जवानों की तैनाती हो गई है। राजनांदगांव जिले के मोहला-मानपुर में 7 बजे से तीन बजे तक मतदान कर सकेंगे। वहीं डोंगरगढ़, डोगरगांव, खैरागढ़, खुज्जी और राजनांदगांव में 8 बजे से पांच बजे तक मतदान होगा।
Share it
Top