Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ : क्वारेंटाइन सेंटर में 2 नवजात बच्चों की मौत, स्वास्थ्य विभाग पर गंभीर आरोप

महाराष्ट्र और नागपुर से लौटने पर इन्हें किया गया था क्वारेंटाइन। पढ़िए पूरी खबर-

छत्तीसगढ़ : क्वारेंटाइन सेंटर में 2 नवजात बच्चों की मौत, स्वास्थ्य विभाग पर गंभीर आरोप
X

बालोद/कवर्धा। छत्तीसगढ़ में अलग-अलग जगह दो बच्चों नवजात बच्चों की संदिग्ध स्थिति में मौत की खबर है। बताया जा रहा है कि बच्चों को क्वारेंटाइन सेंटर में क्वारेंटाइन किया गया था। दोनों ही मामलों में स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही बरतने का आरोप लगा है।

फल मामला बालोद का है, जहां क्वारेंटाइन सेंटर में मां-बाप के साथ रह रही 5 माह की बच्ची की जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हुई है। बच्ची के मां-बाप का आरोप है कि क्वारेंटाइन सेंटर में पर्याप्त स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिली।

बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले महाराष्ट्र चंद्रपुर से ग्राम टटेंगा भरदा आए दंपति और उसके 5 माह के बच्चे को गांव के क्वारेंटाइन में रखा गया था। बुधवार की देर शाम 5 माह के बच्चे की तबीयत खराब होने के बाद उसे मां-बाप के साथ जिला अस्पताल कोविड-19 लाया गया, जहां गुरुवार की सुबह बच्चे की मौत हो गई।

मौत के बाद मां-बाप ने हंगामा कर दिया और बच्चे को पोस्टमार्टम के लिए देने से मना कर दिया। काफी समझाने के बाद बच्चे के शव को मां-बाप से लेकर पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया, जहां आरोप लगाया जा रहा है कि जब देर रात बच्चे की अस्पताल के अंदर तबीयत ज्यादा खराब हुई तब भी कोई डॉक्टर इलाज के लिए वहां नहीं आया।

इस मामले को लेकर बच्चे के परिजन हंगामा कर रहे है तो दूसरी तरह एहतिहात के तौर पर स्वास्थ विभाग ने बच्चे के शव को मरचुरी में रखा है स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि परीक्षण के बाद ही शव परिजनों को सौंपा जाएगा।

कवर्धा में भी नवजात की मौत

वहीं दूसरा मामला कवर्धा के लोहारा के बांधाटोला के क्वारेंटाइन सेंटर का है, जहां अस्पताल में इलाज के दौरान नवजात की मौत हुई है। आरोप है कि मौत के बाद भी बच्चे की जांच नहीं हुई है। जांच के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की गई है। ब्लड टेस्ट के बाद बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। वहीं मां-बाप को क्वारेंटाइन सेंटर से बाहर होम क्वारेंटाइन कर दिया गया है।

बताया जा रहा है कि मां और नवजात 11 मई को नागपुर से ट्रक में लौटे थे। इसके बाद उन्हें क्वारेंटाइन किया गया था। आरोप है कि इस क्वारेंटाइन सेंटर में इनके साथ कुल 85 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया था लेकिन 14 दिन बीतने के बाद भी अब तक किसी का सैंपल नहीं लिया गया है।



Next Story