logo
Breaking

बड़ी खबर : IPS मुकेश गुप्ता और SP रजनेश सिंह के खिलाफ नान घोटाला मामले में आया बड़ा मोड़, जान से मारने की धमकी देकर कराई FIR...

आईपीएस मुकेश गुप्ता और एसपी रजनेश सिंह के खिलाफ एफआईआर मामले में एक बड़ा टर्निंग सामने आया है. जिस टीआई के बयान पर मामला दर्ज किया गया था.

बड़ी खबर : IPS मुकेश गुप्ता और SP रजनेश सिंह के खिलाफ नान घोटाला मामले में आया बड़ा मोड़, जान से मारने की धमकी देकर कराई FIR...

मनोज नायक, रायपुर. आईपीएस मुकेश गुप्ता और एसपी रजनेश सिंह के खिलाफ एफआईआर मामले में एक बड़ा टर्निंग सामने आया है. जिस टीआई के बयान पर मामला दर्ज किया गया था. उसी टीआई ने कोर्ट में शपथ पत्र देकर कहा है कि एफआईआर उससे जबरदस्ती लिखवाया गया है. टीआई आरके दुबे ने कोर्ट में दिए शपथ पत्र में कहा है कि उसकी जान को खतरा है. नान मामले में एफआईआर उनसे दबाव डालकर कराया गया है.

बता दें कि आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए गुरुवार देर रात पूर्व DG मुकेश गुप्ता और SP नारायणपुर रजनेश सिंह के​ खिलाफ अपराध दर्ज किया है. दोनों के खिलाफ 12 धाराओं में FIR दर्ज हुई है.
बता दें शायद प्रदेश का यह पहला मामला है जिसमें DG और जिले के SP जैसे बड़े अफसरों के खिलाफ अपराध कायम किया गया है. दोनों के खिलाफ जिन धाराओं में पंजीबद्ध किया गया है, वे गंभीर और गैर जमानती हैं। DG मुकेश गुप्ता और SP रजनेश सिंह के खिलाफ धारा 166,166A (b),167,193,194,196,201,218,466,467,471 और 120 B के तहत मामला दर्ज किया गया है.
तत्कालीन समय में DG पद पर पदस्थ मुकेश गुप्ता और SP रजनेश सिंह पर आरोप है कि दोनों ने न्यायालय की प्रक्रिया को गुमराह करते हुए झूठे साक्ष्य गढ़ते हुए अपराधिक षड़यंत्र किया, कूटरचित दस्तावेज तैयार किए, अवैध रूप से फोन टैपिंग कराई है.
गौरतलब है यह सारा मामला बहुचर्चित नान घोटाले मामले की जांच के दौरान सामने आया है जिसके लिए SIT टीम गठित हुई है. बहुत हद तक संभव है कि अदालत में चल रहे नान घोटाले प्रकरण को लेकर विधिक कार्यवाही पर इस FIR का बेहद गंभीर असर पड़े.
आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (ईओडब्लू) और एसीबी की ओर से दर्ज FIR 6/2019 है जिसमें मुकेश गुप्ता तत्कालीन ADG ऐसीबी और इओडब्लू आरोपी क्रमांक एक जबकि रजनेश सिंह तत्कालीन एसपी एसीबी आरोपी क्रमांक के रुप में दर्ज है.
Share it
Top