logo
Breaking

CG Budget Session : प्रश्नकाल शुरू होते ही अरुण वोरा, नारायण चंदेल और रेणु जोगी ने पूछे ये अहम सवाल...

विधानसभा सत्र के आज पांचवें दिन भी प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष के विधायकों ने प्रश्नों की बौछार कर दी. प्रश्नकाल शुरू होते ही कांग्रेस के अरुण वोरा ने पूछा कि हाई ब्रीड बीज कहां कहां उपलब्ध कराया गया है? प्रदेश के किसी भी बीज उपलब्ध नहीं है?

CG Budget Session : प्रश्नकाल शुरू होते ही अरुण वोरा, नारायण चंदेल और रेणु जोगी ने पूछे ये अहम सवाल...

रायपुर. विधानसभा सत्र के आज पांचवें दिन भी प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष के विधायकों ने प्रश्नों की बौछार कर दी. प्रश्नकाल शुरू होते ही कांग्रेस के अरुण वोरा ने पूछा कि हाई ब्रीड बीज कहां कहां उपलब्ध कराया गया है? प्रदेश के किसी भी बीज उपलब्ध नहीं है?

मंत्री रविन्द्र चौबे ने बताया कि नरवा घुरवा गरवा बारी के तहत है बीज उपलब्ध कराए जाएंगे. मंत्री ने कहा कि बीज खरीदी की एक प्रक्रिया है उसके तहत के खरीदी की जाती है. बीज के गुणवत्ता की जांच की जाती. 3 जगहों के बीच अमानक पाए गए उसका विरतण रोका गया है. बारी को लेकर कार्ययोजना बनाई जाएगी.
महिला बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया ने बताया कि 45688 आंगनबाड़ी केंद्र संचालित है जिसमें से 10293 आंगनबाड़ी केंद्रों के खुद का भवन नहीं है. इसमे से 6573 केंद्रों के लिए भवन स्वीकृत किए जा चुके है. अजय चंद्राकर ने पूछा कि कितने भवन का काम शुरू हो चुका है.
भाजपा के नारायण चंदेल ने जांजगीर चांपा जिले के डभरा सब डिवीजन के काडा नाली निर्माण की जानकारी मांगी. मंत्री रविन्द्र चौबे ने बताया कि 299 .99 लाख की लागत से निर्माण किया जा रहा है. सदस्य ने कहा कि कागजों में काम हो रहा है. मंत्री ने कहा कि ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है अगर शिकायत आती है तो जांच कराई जाएगी.
कांग्रेस सदस्य अरुण वोरा ने पूछा 20 जनवरी 2019 की स्थिति में कृषि को को वितरण के लिए कौन-कौन से किस्म के हाइब्रिड बीज कितनी मात्रा में कहां उपलब्ध कराए गए. कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने जानकारी दी कि प्रश्न अंकित तिथि में किसानों को वितरण के लिए किसी भी फसल व किस्म का हाइब्रिड बीज उपलब्ध नहीं कराया गया.
जनता कांग्रेस सदस्य रेणु जोगी ने पूछा कि प्रदेश में कितने आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किए जा रहे हैं? इनमें कितने केंद्रों के भवन स्वयं के नहीं है? स्वयं के भवन में संचालित नहीं होने वाले आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए भवन निर्माण की क्या योजना है?
महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया ने जानकारी दी कि प्रदेश के 45688 आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किए जा रहे हैं. इनमें 10293 आंगनबाड़ी केंद्रों में स्वयं को नहीं है 10293 आंगनबाड़ी केंद्रों में से 6573 केंद्रों के लिए भवन स्वीकृत किए जा चुके हैं. शेष आंगनबाड़ी केंद्रों जिनके स्वयं के भवन नहीं है के लिए विधि उपलब्धता के आधार पर भवन स्वीकृत किए जाएंगे.
Share it
Top