Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

CG BOARD : दसवीं-बारहवीं की परीक्षाएं कल से, 40 पेज की होगी गणित की उत्तरपुस्तिका

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने विद्यार्थियों से अपील की है कि इन उत्तर पुस्तिकाओं के प्रश्नों को ध्यान में रखकर उत्तरपुस्तिकाओं में उत्तर लिखे, ताकि उन्हें उत्तर पुस्तिकाओं के पृष्ठों की कमी महसूस न हो। पढ़िए पूरी खबर-

CG BOARD : दसवीं-बारहवीं की परीक्षाएं कल से, 40 पेज की होगी गणित की उत्तरपुस्तिका

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की मुख्य परीक्षा 2 मार्च से प्रारंभ हो रही है। इस वर्ष हाईस्कूल में तीन लाख 92 हजार 068 परिक्षार्थी और हायर सेकण्डरी में दो लाख 77 हजार 475 परिक्षार्थी सम्मिलित हो रहे है। इस वर्ष की परिक्षाओं में 32 पृष्ठीय उत्तरपुस्तिकाओं का उपयोग किया जा रहा है, परंतु कक्षा 12वीं में भौतिक शास्त्र और गणित विषय में 40 पृष्ठ की उत्तरपुस्तिकाएं दी जाएंगी।

माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव प्रोफेसर व्ही.के. गोयल ने मंडल की परीक्षाओं में शामिल हो रहे सभी छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने परीक्षा के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि हायर सेकण्डरी परीक्षा में गणित और भौतिक शास्त्र विषयों के लिए विद्यार्थियों को लिखने के लिए 38 पृष्ठ और शेष परीक्षाओं में 30 पृष्ठ उपलब्ध होंगे।

इन उत्तरपुस्तिकाओं के अतिरिक्त विद्यार्थियों को पूरक उत्तर पुस्तिका प्रदान नहीं की जाएंगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने विद्यार्थियों से अपील की है कि इन उत्तर पुस्तिकाओं के प्रश्नों को ध्यान में रखकर उत्तरपुस्तिकाओं में उत्तर लिखे, ताकि उन्हें उत्तर पुस्तिकाओं के पृष्ठों की कमी महसूस न हो।

उत्तरपुस्तिकाओं में रफ कार्य करना हो तो वे उत्तर पुस्तिकाओं के अंतिम पृष्ठ में करें तथा रफ कार्य को तिरछी लाईन से काट दे। उत्तरपुस्तिका के प्रथम पृष्ठ के (ए) भाग में विद्यार्थी का नाम, रोल नम्बर, विषय एवं परीक्षा तिथि आदि मुद्रित रहेगी।

छात्र सर्वप्रथम उत्तर पुस्तिका में मुद्रित जानकारी का प्रवेश पत्र से मिलान कर लें और मिलान उपरांत निर्धारित स्थान पर अपने हस्ताक्षर करें। प्रश्न का उत्तर देते समय विद्यार्थियों इस बात का विशेष ध्यान रखे की उत्तर पुस्तिका में प्रश्न लिखने की आवश्यकता नहीं है, जिस प्रश्न को हल कर रहे है, उसका उत्तर क्रमांक अंकित कर उत्तर लिखे, जिससे पृष्ठ बचेंगे और सरल प्रश्नों के उत्तर पहले दे तथा कठिन प्रश्नों के उत्तर बाद में दे, इससे समय प्रबंधन होगा।

Next Story
Top