Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जिपं सीईओ ने पत्रकारों को दी पिटवाने की धमकी, चैंबर में बुलाकर छीना कैमरा व मोबाइल, कलेक्टर के हस्तक्षेप के बाद लौटाया सामान, कल से पत्रकार करेंगे आंदोलन

विवादित आईएएस अधिकारी राहुल वेंकट ने पत्रकारों को पिटवाने की धमकी दी है। इतना ही नहीं अधिकारी ने पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार किया। इसके बाद उनके मोबाइल और कैमरा तक क्षिन लिया।

प्रेस क्लब बीजापुरpress club bijapur

बीजापुर. विवादित आईएएस अधिकारी राहुल वेंकट ने पत्रकारों को पिटवाने की धमकी दी है। इतना ही नहीं अधिकारी ने पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार किया। इसके बाद उनके मोबाइल और कैमरा तक छीन लिया। बाद में कलेक्टर के हस्तक्षेप के बाद मोबाइल और कैमरा तो लौटाया दिया गया है। लेकिन पत्रकारो के साथ हुए अभद्र व्यवहार को लेकर सीईओ जिपं के खिलाफ कल से प्रेस क्लब के नेतृत्व में अन्य पत्रकार संगठन मौर्चा खोलेंगे।

बता दें कि जिले ओडीएफ में हुई गड़बड़ी की खबर प्रकाशित होने के बाद जिपं सीईओ राहुल वेंकट तिलमिलाए हुए थे। सोमवार को उन्होंने पत्रकार मुकेश चन्द्राकर, युकेश चन्द्राकर, पंकज दाउद,मुख़्तार खान, गुप्तेश्वर जोशी, ईशु सोनी व लोकेश झाड़ी को पहले अपने चैंबर में बुलवाया। यहां सीईओ ने स्टेनो से कहकर सभी पत्रकारों के मोबाइल जब्त करने को कहा।इसके बाद कैमरा देने को कहा। इसका विरोध करने पर सीईओ अपनी सीट से खुद उठकर मुकेश चन्द्राकर के हाथों से कैमरा छिन कर ले गए उसके बाद सभी पत्रकारों के मोबाइलो को भी छीन लिया गया।

सीईओ राहुल वेंकट ने पत्रकारों को सभागार चलने को कहा। पत्रकारों ने उनसे कहा कि यही बात करेंगे। तो उन्होंने बैठक हाल में बात करने को कहा। पत्रकार जब सभागार के अन्दर पहुंचे तो वहां पहले से मौजूद सौ से ज्यादा पंचायत सचिव, आश्रम अधीक्षक व अन्य अधिकारी मौजूद रहे। सीईओ ने अपने अधीनस्थ अधिकारियो कर्मचारियों के सामने ही पत्रकारों से अभद्रता की। और उन्हें पिटवाने तक की धमकी दी। इधर पत्रकारों के साथ बीजापुर सीईओ जिपं द्वारा की गई हरकत की खबर प्रदेश भर में सक्रिय पत्रकार संगठनों तक पहुँच गई। सबने इस घटना की तीव्र निंदा की है। आज प्रेस क्लब बीजापुर में बैठक के बाद इस मसले को लेकर कई महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए गए है। कल से पत्रकार प्रेस क्लब की अगुवाई में सीईओ जिपं के खिलाफ उचित कार्यवाई को लेकर आंदोलन शुरू करेंगे।

Share it
Top